5 अगस्त के बाद होगा मंत्रियों और अधिकारियों का चिंतन शिविर

15 अगस्त के बाद शिवराज सरकार का फिर मंत्रियों के साथ चिंतन शिविर होगा। इस बार अध‍िकारियों के साथ भी दो दिवसीय चिंतन शिविर आयोजित किया जाएगा। मंत्रियों के स्टाफ को प्रशिक्षण देने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाएगी। विभागीय योजनाओं की समयसीमा में प्रगति सुनिश्चित करने का दायित्व मंत्रियों का होगा। प्रमुख सचिवों को मंत्रियों से समन्वय कर कार्ययोजना बनानी होगी।

5 अगस्त के बाद होगा मंत्रियों और अधिकारियों का चिंतन शिविर

भोपाल। 15 अगस्त के बाद शिवराज सरकार का फिर मंत्रियों के साथ चिंतन शिविर होगा। इस बार अध‍िकारियों के साथ भी दो दिवसीय चिंतन शिविर आयोजित किया जाएगा। मंत्रियों के स्टाफ को प्रशिक्षण देने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाएगी। विभागीय योजनाओं की समयसीमा में प्रगति सुनिश्चित करने का दायित्व मंत्रियों का होगा। प्रमुख सचिवों को मंत्रियों से समन्वय कर कार्ययोजना बनानी होगी।

यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को मंत्रालय में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में पिछले दिनों हुई मुख्यमंत्री परिषद की बैठक की जानकारी मंत्रियों-अध‍िकारियों से साझा करते हुए कही। उन्होंने कहा कि विकास और जनकल्याण के लिए देश में संचालित विभिन्न कार्यक्रमों और योजनाओं में मध्य प्रदेश अग्रणी स्थान पर है। प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास, मातृ वंदना और प्रधानमंत्री पथ विक्रेता योजना में मध्य प्रदेश की उपलब्धि के साथ नगरों और ग्रामों का गौरव दिवस मनाने और चिकित्सा पाठ्यक्रम की पुस्तकें हिंदी में प्रकाशित करने की भी प्रशंसा की।

 जीएसटी का दायरा बढ़ाने का प्रयास करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी योजनाओं में हितग्राहियों को सीधे खाते में लाभ दिया जाना है। इसके लिए तैयारी करें। बायोमीट्रिक सत्यापन की प्रक्रिया शासकीय कार्यालयों और विद्यालयों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में प्रारंभ करें। जीएसटी का दायरा बढ़ाने के लिए प्रयास किए जाएं।

यह भी दिए निर्देश

पुलिस थाना बनाते समय पुलिसकर्मियों के आवास की व्यवस्था भी की जाए।
अमृत सरोवर के निर्माण में दान की राशि और उद्योगों से सामाजिक दायित्व के तहत प्राप्त संसाधनों का उपयोग किया जाए।
जिन नगरों और ग्रामों में गौरव दिवस होना शेष है, वहां तिथि निर्धारित कर कार्यक्रम किए जाएं।
आंगनबाड़ियों के संचालन से समाज को जोड़ने के प्रयास किए जाएं।
सभी विद्यालयों में शिक्षकों की फोटो लगवाना भी सुनिश्चित करें और महाविद्यालयों की रैकिंग व्यवस्था लागू हो।
खेल गतिविध‍ियों को प्रोत्साहित करने के लिए कार्ययोजना बनाई जाए।
विद्यार्थियों में देश प्रेम और अनुशासन की भावना विकसित करने के लिए एनसीसी से जोड़ा जाए।
फिजियोथेरेपी और योग को जोड़ने के लिए विभाग कार्ययोजना बनाएं।
राशन कार्ड के परीक्षण का अभियान चलाकर फर्जी राशन कार्ड निरस्त किए जाएं।
राशन दुकान आवंटित करने कार्ययोजना बनाई जाए।
प्रदेश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर एक जिला-एक उत्पाद की सामग्री के स्टाल लगाए जाएं।
प्रदेश में उत्पादित सामग्री की बिक्री को प्रोत्साहित करने त्योहारों पर विशेष अभियान चलाया जाए।
किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रेरित किया जाए।