भोपाल का ‘ईरानी गैंग’ यूपी में पुलिस बन कर रहा था लूटपाट और ठगी

देशभर में सक्रिय हैं गैंग के सदस्य, यूपी पुलिस ने छह आरोपियों को किया गिरफ्तार, Gang members are active across the country, UP police arrested six accused

भोपाल का ‘ईरानी गैंग’ यूपी में पुलिस बन कर रहा था लूटपाट और ठगी

वाराणसी। यूपी पुलिस को लूटपाट व ठगी की वारदात करने वाले भोपला के ‘ईरानी गैंग’ को पकड़ने में कामयाबी मिली है। इस गैंग का सरगना भोपाल का रहने वाला है और अपने साथियों के साथ मिलकर देशभर में लूटपाट व ठगी की वारदातों को अंजाम दे रहा था। आरोपी वारदात को अंजाम देने के लिए पुलिस का भेष भी रख लेते थे। पुलिस ने इस गैंग का भंडाफोड़ कर छह बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास से 7.37 लाख रूपए नगदी, एक एसयूवी और दो बाइक बरामद की है। पुलिस को एक बिजनेसमैन से 8 लाख की लूट के मामले में लंबे समय से आरोपियों की तलाश थी।

आठ लाख की लूट के मामले में थी तलाश
वाराणसी पुलिस के मुताबिक बीती 24 मार्च को थाना चौक इलाके में एक बिजनेसमैन से अज्ञात बदमाशों ने 8 लाख रुपये लूटे थे। ये वारदात आरोपियों ने पुलिस बनकर दी थी। इसके अलावा गैंग के बारे में शिकायत मिल रही थी कि पुलिस बनकर चेकिंग के नाम पर लोगों से ठगी, हेराफेरी भी कर रहे हैं। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी, तभी एक होटल से पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इन फुटेज में संदिग्ध एक एसयूवी के साथ दिखाई दिए। इसके बाद पुलिस ने फुटेज और बिजनेसमैन के बताए हुलिये व एसयूवी के आधार पर ईरानी गैंग के छह सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। गैंग एक स्थान पर ज्यादा समय नहीं रूकती। वारदात करने के बाद आरोपी शहर छोड़ देते हैं। ये गैंग देशभर में घूम-घूम कर लूटपाट व ठगी की वारदातों को अंजाम देते हैं। 

भोपाल का रहने वाला है मास्टर माइंड
वाराणसी पुलिस ने बताया कि पकड़ा गया ईरानी गैंग का मास्टर माइंड अबू हैदर मध्य प्रदेश के भोपाल का रहने वाला है। वहीं इसका राइट हैंड मेंहदी हसन भी भोपाल का ही रहने वाला है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 7 लाख 37 हजार रूपए नगदी, एक एसयूवी और 2 बाइक और दो देशी कट्टे बरामद किए हैं। 

तरीका-ए-वारदात
पुलिस पूछताछ में पता चला है कि गैंग के सदस्य अक्सर पुलिस बनकर लूट और ठगी की वारदातों को अंजाम देती है। वारदात करने के लिए गैंग के सदस्य पुलिस बनकर सुनसान रास्तों से गुजरने वाले लोगों को चैचिंग के नाम पर रोकते हैं। योजना के तहत वह पहले अपनी गैंग के सदस्य की चैकिंग के नाम पर रोकर उसकी तलाशी लेते हैं। यह दौरान वह अपने शिकार को भी रोक लेते हैं। इसके बाद तलाशी के नाम पर लूट और ठगी की वारदात को अंजाम देते हैं।

पुलिस टीम को 50 हजार का इनाम
पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने ईरानी गैंग को पकड़ने वाली पुलिस टीम को 50 हजार रूपए का इनाम देने की घोषणा की है। जल्द ही पुलिस की अलग-अलग टीमें पकड़े गए आरोपियों के अन्य सदस्यों की तलाश में रवाना होंगी। इसके साथ ही यूपी पुलिस की एक टीम गैंग के सरगना अबू हैदर और मेहंदी हसन के बारे में जानकारी जुटाने भोपाल आएगी। 

ये बदमाश हुए गिरफ्तार
यूपी पुलिस ने अभी तक ईरानी गैंग के मास्टर माइंड अबू हैदर निवासी भोपाल, मेहंदी हसन निवासी भोपाल, मोहम्मद कासिम निवासी सीहोर मप्र, इमरान अली निवासी अजमेर, गुलाम जाकिर निवासी ठाणे, सैयद अबुथरब निवासी चित्तूर को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों की पहचान उनके सामान से मिले आधार कार्ड से की है।