महारानी अस्पताल में बने 3 करोड़ का बर्न यूनिट का सीएम भूपेश बघेल ने किया लोकार्पण

अधिकारियों ने कहा-किसानों को लाभ पहुंचाने वाले काम पर जोर दें, Officials said - Emphasize work that benefits the farmers

महारानी अस्पताल में बने 3 करोड़ का बर्न यूनिट का सीएम भूपेश बघेल ने किया लोकार्पण

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ में जगदलपुर स्थित महारानी अस्पताल में 3 करोड़ रुपए की लागत से बने बर्न यूनिट और 2 करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुए डी-एडिक्शन यूनिट का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोकार्पण किया है। अब मरीजों को शहर से करीब 15 किमी दूर डिमरापाल मेडिकल कॉलेज नहीं जाना पड़ेगा। शहर के महारानी अस्पताल में अब यह सुविधा उपलब्ध होगी। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने महारानी अस्पताल के मैटरनिटी वार्ड, हमर लैब और ब्लड बैंक का निरीक्षण किया। उन्होंने बर्न यूनिट के लोकार्पण के दौरान मेडिकल स्टाफ से कहा कि अच्छी सुविधा मिली है, इसको मेंटेन रखना। उन्होंने डी-एडिक्शन यूनिट में नशामुक्ति का इलाज करा रहे अजहर से बातचीत की। मुख्यमंत्री को अजहर ने बताया कि, वह मध्य प्रदेश का रहने वाला है और पिछले 20 दिनों से यहां इलाज करा रहा है। मादक पदार्थ सेवन की लत लग गई थी, इस बुरी आदत से निजात पाने के लिए वह डी-एडिक्शन यूनिट में भर्ती हुआ है।

मुख्यमंत्री ने ली अधिकारियों की समीक्षा बैठक
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जगदलपुर के सर्किट हाउस में अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में उन्होंने कहा कि हमें मूल रूप से नाला पर काम करना जरूरी है। खेती का समय आ रहा है। पानी की आवश्यकता सभी को है, यदि पानी की कमी रही तो जंगल के जानवर शहरों की तरफ आएंगे। उन्होंने कहा कि लोगों की आय में जबरदस्त वृद्धि दर्ज हुई है। हमारी नीतियों का लाभ मिल रहा है। खेती के प्रति आकर्षण बढ़ गया है तो पानी की जरूरत बढ़ी है। किसानों से जुड़े कामों पर फोकस करने के निर्देश दिए।

ग्रामीणों को काम दें, नक्सली भर्ती कम होगी
मुख्यमंत्री बघेल ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि, सरकार की योजनाओं को ज्यादा से ज्यादा ग्रामीणों तक पहुंचाएं। जिससे हर व्यक्ति को काम मिलेगा। जिससे नक्सल संगठन में अंदरूनी इलाके के युवक-युवतियों की भर्ती नहीं होगी। बेरोजगार युवा रोजगार से जुड़ेंगे। सब ग्रामीणों को काम मिलेगा तो नक्सली भर्ती पूरी तरह से बंद जो जाएगी। नक्सली अपने आप खत्म होंगे।

हाट बाजार क्लिनिक मजबूत करें
मुख्यमंत्री ने कहा कि भेंट-मुलाकात में सबसे ज्यादा डिमांड सहकारी बैंक की आ रही है। बैंकिंग काम तेजी से करें। बैंक का मांग लगभग सभी जगह है, जहां घोषणा हुई है, वहां बैंक खोलें। हाट बाजार क्लिनिक को और मजबूत करें। बारिश में जल आधारित बीमारियों के बढ़ने की आशंका रहती है, ऐसे में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट रहे।