भोपाल में EOW छापे के दौरान क्लर्क ने खाया जहर 85 लाख कैश मिले

भोपाल। बुधवार को मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट के क्लर्क के घर EOW ने छापा मारा। छापे के दौरान क्लर्क हीरो केसवानी ने जहर खा लिया।

भोपाल में EOW छापे के दौरान क्लर्क ने खाया जहर  85 लाख कैश मिले

भोपाल। बुधवार को मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट के क्लर्क के घर EOW ने छापा मारा। छापे के दौरान क्लर्क हीरो केसवानी ने जहर खा लिया। अभी तक करोड़ों की संपत्ति उजागर हो चुकी है। केसवानी के घर अभी भी EOW की कार्रवाई चल रही है। मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में क्लर्क हीरो केसवानी के घर से अब तक 85 लाख कैश और 12 से ज्यादा प्रॉपर्टी की जानकारी मिली है। इसकी कीमत 4 करोड़ से ज्यादा बताई जा रही है।

अब तक 3 कार, 1 स्कूटर, बैरागढ़ में डेढ़ करोड़ के मकान का पता चला है। सतपुड़ा भवन में 6वीं मंजिल पर इनका दफ्तर है। अभी केसवानी आयुष्मान भारत योजना और स्वशासी संस्था सेक्शन का काम देख रहे थे।

4 हजार सैलरी से शुरू की थी नौकरी
हीरो केसवानी ने 4 हजार रुपए की शुरुआती सैलरी से शुरुआत की थी। सातवें वेतनमान के बाद 50 हजार रुपए सैलरी मिल रही थी। इनकी अधिकांश प्रॉपर्टी पत्नी के नाम मिली। जहर पीने के बाद केसवानी को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

जबलपुर का असिस्टेंट इंजीनियर निकला करोड़ों का मालिक
जबलपुर नगर निगम में पदस्थ असिस्टेंट इंजीनियर के घर पर बुधवार सुबह EOW का छापा पड़ा। अब तक की जांच में इंजीनियर के पास करोड़ों रुपए की आय से अधिक संपत्ति होने का खुलासा हुआ है। EOW के SP देवेंद्र सिंह ने बताया कि आदित्य शुक्ला जबलपुर नगर निगम में असिस्टेंट इंजीनियर हैं। इंजीनियर ने अपनी नौकरी के दौरान जो प्रॉपर्टी बनाई, वो उनकी आय से 203% अधिक है।

इंजीनियर के घर अब तक की जांच में मिलीं ये प्रॉपर्टी

रतन नगर में 3900 स्क्वायर फीट की जमीन पर बना आलीशान बंगला।
1500 स्क्वायर फीट की पैतृक जमीन पर बने पुराने मकान को तोड़कर बनाया नया आलीशान मकान।
तीन लग्जरी कार।
बुलेट बाइक और एक्सेस स्कूटर।
6.40 लाख रुपए की बैंक में जमा राशि।