खरगोन में साम्प्रदायिक हिंसा: रामनवमी जुलूस बवाल, 30 मकान-दुकान फूंके, एसपी को लगी गोली, 24 घायल, शहर में कर्फ्यू

70 हिरासत में, सीएम बोले- दंगाइयों को छोड़ेंगे नहीं, 70 in custody, CM said - will not spare the rioters

खरगोन में साम्प्रदायिक हिंसा: रामनवमी जुलूस बवाल, 30 मकान-दुकान फूंके, एसपी को लगी गोली, 24 घायल, शहर में कर्फ्यू

मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी शोभायात्रा पर रविवार शाम को तालाब चौक के पास पथराव किया गया। उपद्रवियों ने 30 से ज्यादा दुकानों और मकानों में आग लगा दी। इस बवाल में एसपी खरगोन सिद्धार्थ चौधरी के पैर में गोली लग गई। रात करीब 9 बजे मामला कुछ शांत हुआ, लेकिर देर रात 12 बजे फिर हिंसा हुई। आनंद नगर, संजय नगर मोतीपुरा में घर फूंक दिए गए। कुछ घरों में लूटपाट भी की गई। इस हिंसा में करीब दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने इस मामले में 70 लोगों को हिरासत में लिया है। इस हिंसक घटना के बाद शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

खरगोन में रामनवमी के मौके पर रविवार शाम श्रीराम शोभायात्रा निकाली जा रही थी। तभी तालाब चौक के पास उपद्रवियों ने शोभायात्रा पर पथराव कर दिया। इस दौरान उपद्रवियों ने 30 से ज्यादा दुकानों और मकानों में आग लगा दी। रात करीब 9 बजे मामला कुछ शांत हुआ, लेकिर देर रात 12 बजे फिर हिंसा हुई। आनंद नगर, संजय नगर मोतीपुरा में घर फूंक दिए गए। कुछ घरों में लूटपाट भी की गई।

दंगाईयों को नहीं छोड़ेंगे-सीएम
पुलिस ने सोमवार सुबह तक 70 उपद्रवियों को हिरासत में लिया है। पुलिस-प्रशासन ने हेल्प लाइन नंबर भी जारी किए हैं। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना का दुर्भाग्यपूर्ण कहा है। सीएम ने कहा- किसी दंगाई को नहीं छोड़ेंगे। कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। दंगाई चिह्नित कर लिए गए हैं। जिन्होंने पत्थर चलाए, संपत्ति को नुकसान पहुंचाया, उनसे सार्वजनिक या निजी संपत्ति के नुकसान की वसूली भी करेंगे।

जिन घरों से पथराव हुआ, उन्हें पत्थर का ढेर बनाएंगे
इस घटना पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने खरगोन कहा है कि जिन घरों से पथराव हुआ है, उन्हें ही पत्थर का ढेर बनाएंगे। उन्होंने बताया कि अब खरगोन में शांति है। पर्याप्त पुलिस बल वहां मौजूद है। माना जा रहा है कि रामनवमी पर उपद्रव अचानक नहीं हुआ। पहले से इसकी तैयारी की गई थी। उपद्रवियों ने घरों की छतों पर पत्थर और पेट्रोल बम जमा कर रखे थे।

पूरे शहर में कर्फ्यू
इस घटनाक्रम से शोभायात्रा स्थगित कर दी गई। कलेक्टर ने पहले पांच इलाकों में कर्फ्यू लगाया था, लेकिन देर रात जब हालात काबू नहीं हुए तो पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया। भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय और प्रभारी मंत्री कमल पटेल ने ट्वीट कर आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कही।

एसपी को पैर में गोली लगी
एसपी सिद्धार्थ चौधरी के बाएं पैर में गोली लगी है। उन्हें पुलिसकर्मियों की मदद से निजी अस्पताल पहुंचाया। 10 से ज्यादा विशेषज्ञों ने उनके पैर का ऑपरेशन किया। तालाब चौक क्षेत्र में पथराव में टीआई बीएल मंडलोई को सिर में पत्थर लगने से चोट आई है। इस घटना में 10 पुलिसकर्मी और 20 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। 

सांसद और बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष फंसे
पथराव की सूचना पर शाम 7.45 बजे सांसद गजेंद्र सिंह पटेल और भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष श्याम महाजन सराफा और भाटवाड़ी क्षेत्र पहुंचे। इस दौरान वहां पथराव और आगजनी होने लगी। इसके बाद वो लौट गए और सीधे कोतवाली पहुंचे। उन्होंने वहां मौजूद कर्मचारियों को कहा कि जल्दी पुलिस बल भेजो, लेकिन पुलिसकर्मियों ने जवाब दिया कि यहां फोर्स कम है। इसके बाद दूसरे जिले से पुलिस फोर्स पहुंची।

लोगों ने लगाई पुलिस-नेताओं से गुहार
पथराव के दौरान घरों में फंसे लोगों ने रिश्तेदार, नेताओं और पुलिस को फोन लगाकार सूचना दी। भाटवाड़ी मोहल्ले में 40 परिवारों को अपने रिश्तेदारों के घर सुरक्षित पहुंचाया गया। इसके अलावा संजय नगर मोतीपुरा, गोशाला मार्ग में भी करीब तीस परिवार अपने घर छोड़कर दूसरे स्थानों पर चले गए।

कर्फ्यू से इन लोगों को छूट
चिकित्सा और आवश्यक वस्तु अधिनियम में खाने पीने की सेवाओं में लगे लोगों को छूट रहेगी, पेपर होने या जरूरी होने पर राजस्व और पुलिस अफसरों को सूचना दे सकेंगे, जरूरी सेवाओं को छोड़कर कोई भी घर से बाहर नहीं निकलेगा, 5 लोग समूह में इकट्ठा नहीं होंगे, बिना अनुमति नहीं बजेंगे डीजे, लाउड स्पीकर, व्यक्ति, संस्था, संगठन और समूह बिना अनुमति आयोजन नहीं करेंगे, शासकीय सेवा में लगे कर्मचारी के अलावा सामान्यजन अस्त्र-शस्त्र लेकर नहीं चल पाएंगे, भड़काऊ भाषा के झंडे, बैनर, पोस्टर और नारों पर रोक, एडीएम का धारा 144 का जारी प्रतिबंधात्मक आदेश।

बड़वानी में भी जुलूस के दौरान पथराव
बड़वानी के सेंधवा में भी रामनवमी के जुलूस के दौरान पथराव हुआ। शहर के जोगवाड़ा रोड पर दो समुदायों में जमकर पथराव हुआ। शहर थाना प्रभारी बलदेवसिंह मुजाल्दा समेत 5 अन्य लोग घायल हो गए। बाइक और स्कूटी जला दी गई। उपद्रवियों ने कुछ धार्मिक स्थलों को भी निशाना बनाया। पुलिस और प्रशासन ने जल्द स्थिति पर काबू पा लिया। बाद में शहर में जुलूस निकाला गया। थाना प्रभारी ने बताया के फिलहाल इसकी जांच की जा रही है कि किस वजह से पथराव हुआ। दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।