अयोध्या: मस्जिदों के बाहर आपत्तिजनक वस्तुएं फेंककर दंगा भड़काने की साजिश नाकाम, 7 गिरफ्तार

कानून-व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और शहर में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई, Law and order situation is completely under control and no untoward incident took place in the city

अयोध्या: मस्जिदों के बाहर आपत्तिजनक वस्तुएं फेंककर दंगा भड़काने की साजिश नाकाम, 7 गिरफ्तार

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में अराजक तत्वों ने माहौल खराब करने और दंगा भड़काने का प्रयास किया। जिसे पुलिस ने नाकाम कर दिया। पुलिस ने तीन मस्जिदों समेत चार स्थानों पर आपत्तिजनक पोस्टर, धार्मिक ग्रंथों की प्रतियां और पोर्क फेंकने के आरोप में सात लोगों को गिरफ्तार किया है।

एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सात आरोपियों की पहचान महेश कुमार मिश्रा, प्रत्यूष श्रीवास्तव, नितिन कुमार, दीपक कुमार गौर उर्फ गुंजन, बृजेश पांडे, शत्रुघ्न प्रजापति और विमल पांडे के रूप में हुई है। सभी आरोपी अयोध्या जिले के रहने वाले हैं। इस मामले में सात आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है जबकि चार आरोपी अभी फरार हैं, जिनको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों से पूछताछ के दौरान सामने आया कि वे शहर के सौहार्दपूर्ण माहौल को खराब करना चाहते थे।

कोई अप्रिय घटना नहीं
एसएसपी ने कहा कि कानून-व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और शहर में कोई भी अप्रिय घटना नहीं हुई है। पुलिस के मुताबिक, तीन मस्जिदों-तातशाह जामा मस्जिद, मस्जिद घोसियाना और कश्मीरी मोहल्ला मस्जिद के बाहर आपत्तिजनक वस्तुएं फेंकी गईं। इसके अलावा, कोतवाली थाना अंतर्गत गुलाब शाह बाबा के दरगाह पर भी आपत्तिजनक वस्तुएं फेंकी गई थीं।

पुलिस ने महेश को बताया मास्टरमाइंड
एसएसपी ने बताया, आरोपी महेश मिश्रा के साथ चार मोटरसाइकिलों पर कुल आठ लोगों ने मस्जिदों और दरगाह पर आपत्तिजनक पोस्टर और वस्तुएं फेंकी। जिन आपत्तिजनक वस्तुओं को उन्होंने फेंका था, उन्हें बरामद कर लिया गया है और उनके द्वारा इस्तेमाल किए गए वाहनों को जब्त कर लिया गया है। एक बयान में अयोध्या पुलिस ने पूरे मामले में महेश मिश्रा को मास्टरमाइंड बताया है।

जहांगीरपुरी का बदला लेने के लिए की थी प्लानिंग
बयान में कहा गया है कि जहांगीरपुरी हिंसा का बदला लेने के लिए, इसकी पूरी प्लानिंग महेश के घर पर की गई थी। आरोपी अपने साथ कुरान की प्रतियां और पोर्क लाए थे जिसे मस्जिदों के बाहर फेंककर फरार हो गए थे। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 295 और 295-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है।