पाकिस्तान: इमरान सरकार में मंत्री रहीं शिरीन मजारी की बेटी ने आर्मी चीफ बाजवा पर की अपमानजनक टिप्पणी, केस दर्ज

पुलिस ने शुक्रवार को अधिवक्ता ईमान हाजिर मजारी के खिलाफ मामला दर्ज किया, Police registered a case against advocate Iman Hazar Mazari on Friday

पाकिस्तान: इमरान सरकार में मंत्री रहीं शिरीन मजारी की बेटी ने आर्मी चीफ बाजवा पर की अपमानजनक टिप्पणी, केस दर्ज

पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के खिलाफ अभद्र और अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में पाकिस्तान पुलिस ने शुक्रवार को अधिवक्ता ईमान हाजिर मजारी के खिलाफ मामला दर्ज किया। ईमान पूर्व मानवाधिकार कार्यकर्ता और इमरान सरकार में मंत्री रहीं शिरीन मजारी की बेटी हैं। ईमान ने गत 21 मई को अपनी मां की गिरफ्तारी के बाद यह बयान दिया था। ईमान की मां को पंजाब प्रांत की भ्रष्टाचार रोधी विभाग के अधिकारियों ने गिरफ्तार किया था।

जज एडवोकेट जनरल, जीएचक्यू, के लेफ्टिनेंट कर्नल सैयद हुमायूं इफ्तिखार की अर्जी पर इस्लामाबाद के रमना पुलिस थाने में ईमान हाजिर मजारी के खिलाफ नफरती भाषण देने पर धारा 505 और पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 138 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई। प्राथमिकी दर्ज करने की मांग वाली शिकायती अर्जी में कहा गया है कि मजारी ने 21 मई को पाकिस्तानी सेना और उसके प्रमुख जनरल बाजवा के खिलाफ अपमानजनक और नफरत भरा बयान दिया था।

इसमें कहा गया है कि उनके आपत्तिजनक बयान बहुत अपमानजनक हैं, जिनकी मंशा पाकिस्तानी सेना में बगावत भड़काने की थी। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि मजारी ने अपने बयान से सेना के शीर्ष नेतृत्व को अपमानित किया और इस बयान का मकसद पाकिस्तानी सेना में बगावत और अराजकता को उत्पन्न करना था, जो कि दंडनीय अपराध है। 

मां की गिरफ्तारी के बाद दिया था बयान
गत 21 मई को ईमान ने अपनी मां शिरीन मजारी की गिरफ्तारी के बाद यह बयान दिया था। ईमान की मां को पंजाब प्रांत की भ्रष्टाचार रोधी विभाग के अधिकारियों ने गिरफ्तार किया था। हालांकि ईमान की मां उसी दिन इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के हस्तक्षेप करने के कारण रिहा कर दी गई थीं। इमरान खान सरकार में कैबिनेट मंत्री रहीं शिरीन (59) अपनी पार्टी की सरकार गिरने के बाद से सेना की आलोचना कर रही हैं। शिरीन की गिरफ्तारी के बारे में पूछने पर उनकी बेटी ईमान ने जनरल बाजवा पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उनकी मां को हिरासत में लिए जाने के पीछे सेना की अहम भूमिका है।