उद्यमिता भवन और इंफिनिटी टॉवर में लगी आग, दमकलों ने तीन घंटे में पाया काबू

दो बिल्डिंगों में भीषण आग से लाखों को माल जलकर राख, Millions of goods burnt to ashes due to fierce fire in two buildings

उद्यमिता भवन और इंफिनिटी टॉवर में लगी आग, दमकलों ने तीन घंटे में पाया काबू

भोपाल। राजधानी में शुक्रवार सुबह दो अलग-अलग स्थानों पर भीषण आग लगने से अफरा तफरी मच गई। अरेरा हिल्स स्थित उद्यमिता भवन में आग लगने की घटना के चंद मिनटों बाद ही एमपी नगर जोन-टू में इंफिनिटी टॉवर को भी आग ने अपनी चपेट में ले लिया। दोनों जगहों पर एक साथ आग लगने की सूचना मिलते ही पुलिस बल और नगर निगम की दमकलें मौके पर पहुंच गई। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद 20 दमकलों ने आग पर काबू पाया गया। आग से दोनों बिल्डिंगों में रखा लाखों का सामान जल कर राख हो गया। पुलिस ने दोनों मामलों में आगजनी का केस दर्ज कर लिया है।

एमपी नगर थाना पुलिस के मुताबिक अरेरा हिल्स स्थित उद्यमिता भवन में उद्यमिता विकास केंद्र मध्यप्रदेश का ऑफिस है। इसकी चौथीं मंजिल पर सुबह करीब छह बजे अचानक आग लग गई। आग से फर्नीचर, एसी-कूलर, पंखे, जरूरी दस्तावेज समेत अन्य सामान जलकर राख हो गए। हालांकि, आग बुझाने के बावजूद धुआं निकल रहा है। इस कारण किसी को भी भीतर नहीं जाने दिया जा रहा। शुरूआती जांच में आग लगने की वजह पता नहीं चल पाई है। करीब 20 गाड़ियों की मदद से आग पर काबू पाया जा सका। पुलिस की दमकलें भी आग पर काबू पाने में लगी रही।

आग बुझाना बड़ी चुनौती बनी
आग ने बिल्डिंग की चौथीं मंजिल को अपनी चपेट में ले लिया था। करीब 80 फीट की ऊंचाई पर लगी आग को बुझाने की दमकलकर्मियों के लिए बड़ी चुनौती रही। इसके लिए क्रेन की मदद भी ली गई। बिल्डिंग के चारों तरफ दमकलें लगाई गई। फ्रंट साइड में शीशे तोड़कर अंदर पानी की बौंछार की गई।

एक की आग पर काबू पाया तो दूसरी बिल्डिंग में लगी आग
दकमलकर्मी उद्यमिता भवन में लगी आग पर काबू पाते, इससे पहले एमपी नगर में आग लगने की खबर आ गई। एमपी नगर पुलिस ने बताया कि जोन-टू स्थित इंफिनिटी टॉवर में आग लगने की सूचना मिली थी। शुक्रवार सुबह करीब सवा छह बजे आग लगी। यहां पर आग लगने की सूचना पर नगर निगम की दमकलें पहुंची। आग पूरी तरह बिल्डिंग को अपनी चपेट में ले लिया था। दमकलकमियों ने करीब 3 घंटे की मेहनत से आग पर काबू पाया। पुलिस ने दोनों मामलों में आगजनी का केस दर्ज कर आग लगने के कारणों की जांच शुरू कर दी है।