हाई अलर्ट पर इंदौर: खजराना मंदिर की सिक्योरिटी बढ़ाई, परशुराम जयंती जुलूस के रूट पर ड्रोन से होगी निगरानी

संदिग्ध मैसेज के बाद सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद, Security system beefed up after suspicious message

हाई अलर्ट पर इंदौर: खजराना मंदिर की सिक्योरिटी बढ़ाई, परशुराम जयंती जुलूस के रूट पर ड्रोन से होगी निगरानी

इंदौर। जिलें में परशुराम जयंजी, अक्षय तृतीया और ईद को लेकर पुलिस-प्रशासन हाई अलर्ट पर है। सोमवार शाम साइबर टीम ने इंटरसेप्ट किए गए मैसेजेस और मिले इनपुट के आधार पर खजराना मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी है। बड़ा गणपति इलाके से निकलने वाली यात्रा को लेकर भी पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के सख्त इंतजाम किये हैं। इसके साथ ही पुलिस कमिश्नर हरिनारायणचारी मिश्र खुद सीधे संवाद कर रहे हैं।

इन स्थानों पर विशेष सतर्कता
पुलिस कमिश्नर मिश्र ने खजराना, आजाद नगर और चंदन नगर में ईद को लेकर विशेष सुरक्षा इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। सोमवार शाम साइबर टीम को मिले इनपुट के बाद खजराना इलाके में विशेष शाखा और जिला विशेष शाखा की टीम एक्टिव हुई है। यहां एक मंदिर के अंदर स्थापित मूर्ति को लेकर सोशल मीडिया पर भ्रामक मैसेज डाला गया था। इसके बाद मंदिर की सुरक्षा बढ़ाई है।

परशुराम यात्रा में भी सुरक्षा के पुख्त इंतजाम
शहर में मंगलवार को ईद के साथ ही अक्षय तृतीया भी मनाई जाएगी। परशुराम जंयती (अक्षय तृतीया) के चलते बड़ागणपति मंदिर से मरीमाता क्षेत्र स्थित परशुराम वाटिका तक शोभायात्रा भी निकाली जाएगी। यहां यह यात्रा जिंसी इलाके से भी निकलेगी। यहां भी सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ा दी गई है। पुलिस अधिकारियों ने रिजर्व बल के साथ फढऋ की टुकड़ी को भी यात्रा के दौरान तैनात रखने के निर्देश दिए हैं।

संवेदनशील इलाकों में ड्रोन से नजर
खजराना, आजादनगर और चंदन नगर इलाके में पिछले एक सप्ताह से अफसर लगातार शांति समिति की बैठक ले रहे हैं। ड्रोन से इमारतों पर नजर रखी जा रही है। डीजीपी सुधीर सक्सेना के इंदौर से रवाना होने के दूसरे दिन खजराना में ड्रोन उड़ाए गए थे। जिसमें कई छतों पर जमा पत्थर और सेंसेटिव सामान हटवाया गया था। इसके बाद से लगातार सुबह, शाम थाना प्रभारी और एसीपी व एडिशनल डीसीपी भी पैदल भम्रण कर रहे हैं।

सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने का मिला था इनपुट
कुछ दिन पहले खुड़ैल और सांवेर इलाके में जूलुस के दौरान पथराव की छुटपुट घटनाएं हुई थीं। इसके बाद सदर बाजार और एरोड्रम इलाके की दो बस्तियों में पथराव भी हुआ था। चंदन नगर में मंदिर की जमीन पर कब्जे को लेकर भी सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल हो रहे थे। फिर बेटमा में भी सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश हुई। खरगोन में हुए सांप्रदायिक विवाद के बाद लगातार सोशल मीडिया पर इंदौर को लेकर भी तनाव बना हुआ था। इसके चलते प्रदेश के डीजीपी सुधीर सक्सेना खुद भोपाल से इंदौर के हालातों पर जानकारी लेने पहुंचे थे। डीजीपी ने तीन दिन के दौरे में इंदौर पुलिस के अफसरों को दिशा निर्देश दिए थे।