पाकिस्तान में हिंसा के बाद आजादी मार्च खत्म

शाहबाज सरकार को 6 दिन का अल्टीमेटम देकर वापस लौटे इमरान

पाकिस्तान में हिंसा के बाद आजादी मार्च खत्म

इस्लामाबाद । पाकिस्तान में एक बार फिर से सियासी उठापटक शुरू हो गया है। इसी बीच इमरान खान चुनाव की घोषणा करने के लिए शाहबाज सरकार को 6 दिन का अल्टीमेटम देकर वापस लौट गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार 6 दिन में चुनाव की तारीख का एलान करें। इधर, देर रात अपने लाखों समर्थकों के साथ इमरान इस्लामाबाद के करीब डी-चौक पहुंचे थे। यहां, पीटीआई के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़पें भी हुईं। पुलिस ने खान समर्थकों पर टियर गैस का इस्तेमाल किया। पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के आजादी मार्च को देखते हुए इस्लामाबाद को रेड जोन घोषित कर दिया गया था। वहीं, गृह मंत्रालय ने सुरक्षा को देखते हुए सेना की तैनाती का निर्देश दिया था।

मरियम बोली- हिंसा भड़का रहे पीटीआई कार्यकर्ता
इमरान की आजादी मार्च पर सत्ता पक्ष के नेता मरियम नवाज ने निशाना साधा। मरियम ने कहा कि पूर्व पीएम के शह पर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ  के कार्यकर्ता हिंसा भड़का रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने शांति से प्रदर्शन करने की इजाजत दी है, लेकिन उसे नहीं माना जा रहा है।

संसद का कार्यकाल अगले साल अगस्त तक
इमरान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ  मांग कर रही है कि शाहबाज शरीफ के 13 पार्टियों की गठबंधन सरकार फौरन इस्तीफा दे। केयर टेकर सरकार बने और जल्द से जल्द चुनाव कराए जाएं। वैसे संसद का कार्यकाल अगले साल अगस्त तक है।

मेरी सरकार गिराने में अमेरिका का हाथ
पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने अमेरिका पर अपनी सरकार गिराने का आरोप लगाया था। शाहबाज शरीफ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इन चोरों ने देश पर कब्जा कर लिया है। मुझे उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट और फौज सच के साथ खड़े होंगे। फौज अब यह नहीं कह सकती कि वो न्यूट्रल है। न्यूट्रल तो जानवर होते हैं। मैं फिर कहता हूं कि हम जिहाद करने निकले हैं, सियासत तो बहुत दूर की बात है।