पुलिस एनकाउंटर: योगी के शपथ ग्रहण से पहले लखनऊ में 1 लाख का इनामी बदमाश किया ढेर

लखनऊ में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, एनकाउंटर में ढेर हुआ बदमाश ज्वैलर्स लूट मामले में था वांटेड, Tight security arrangements in Lucknow, the crooks piled up in the encounter were wanted in the jewelers robbery case

पुलिस एनकाउंटर: योगी के शपथ ग्रहण से पहले लखनऊ में 1 लाख का इनामी बदमाश किया ढेर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में योगी आदित्यनाथ के दूसरे शपथ ग्रहण से पहले राजधानी में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। पीएम मोदी समेत सैकड़ों वीवीआईपी के पहुंचने से पहले यहां यूपी पुलिस और एक इनामी बदमाश के बीच एनकाउंटर हो गया। पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में बदमाश राहुल सिंह ढेर हो गया है। बदमाश की पुलिस को एक ज्वैलर्स के यहां लूट व हत्या के मामले में काफी समय से तलाश थी। यह मुठभेड़ तड़के करीब चार बजे हसनगंज इलाके में हुई है।

रोकने पर बदमाश ने की फायरिंग

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इनामी बदमाश राहुल सिंह अलीगंज ज्वैलर्स लूट कांड में भी वांटेड था। लूट के दौरान उसने ज्वैलर्स के कर्मचारी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। गुरुवार रात लखनऊ पुलिस को बदमाश के अलीगंज में आने की सूचना मिली थी। जिसके आधार पर पुलिस टीमें चेकिंग कर रहीं थीं। इसी बीच तड़के करीब चार बजे हसनगंज बंधा रोड के पास पहुंचने पर एक संदिग्ध व्यक्ति नजर आया था। जिसका हुलिया राहुल सिंह से मिल रहा था। इस पर पुलिस ने उसे रोकने का प्रयास किया था। लेकिन बदमाश ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी थी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की थी। जिसमें गोली लगने से राहुल सिंह घायल हो गया। जिसे पुलिस ने तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर उसकी मौत हो गई।

लूट-हत्या के मामले में था वांटेड

इंस्पेक्टर अलीगंज धर्मेंद्र सिंह यादव के मुताबिक कपूरथला अलीगंज सेक्टर-बी में निखिल अग्रवाल की तिरुपति ज्वैलर्स के नाम से दुकान है। 8 दिसंबर 2021 की सुबह निखिल, कर्मचारी श्रवण कुमार और दो महिला कर्मचारी दुकान में मौजूद थे। उसी दौरान बदमाश धड़धड़ाते हुए दुकान में घुस गए थे। असलहों से लैस बदमाशों ने जेवर लूट लिए थे। भागते वक्त श्रवण ने एक बदमाश को दबोच लिया था। जिसने असलहे से श्रवण के पेट में गोली मार दी थी। जिससे कर्मचारी की मौत हो गई थी। 

पहले पकड़े जा चुका है गिरोह
इंस्पेक्टर के मुताबिक सीसी फुटेज में शाहजहांपुर जलालाबाद निवासी राहुल नजर आया था। वहीं, गिरोह में शामिल हनी सिंह और गुड़ंबा निवासी रवि कुमार वर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। सभी ने अपने साथी राहुल द्वारा गोली चलाने की पुष्टि की थी। इस बीच पुलिस ने राहुल की तलाश के लिए शाहजहांपुर के अलावा अन्य जिलों में भी दबिश दी थी। लेकिन सफलता नहीं मिली थी।