हमारे ऊपर भाजपा में शामिल होने का दबाव बनाया जा रहा : RAJU RAJPUT

प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव 29 जनवरी को होने वाला है। इससे पहले दोनों ही पार्टियों में जोड़तोड़ का खेल चल रहा है। जिला पंचायत सदस्य राजू  ने बताया कि हम पांच जिला पंचायत सदस्य मर्जी से होटल में रुके थे। हमने अपनी आईडी भी जमा की थी।

हमारे ऊपर भाजपा में शामिल होने का दबाव बनाया जा रहा : RAJU RAJPUT

जिला पंचायत अध्यक्ष पर 'रिसॉर्ट पॉलिटिक्स':सीहोर के 4 जिला पंचायत सदस्यों को पुलिस लाई थाने, कांग्रेसी बोले- BJP में शामिल होने का दबाव

BHOPAL:  प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव 29 जनवरी को होने वाला है। इससे पहले दोनों ही पार्टियों में जोड़तोड़ का खेल चल रहा है। जिला पंचायत सदस्य राजू  ने बताया कि हम पांच जिला पंचायत सदस्य मर्जी से होटल में रुके थे। हमने अपनी आईडी भी जमा की थी। छापा मार कर पुलिस जबर्दस्ती होटल से थाने लाई है। हम चुने हुए जिला पंचायत सदस्य हैं। बीजेपी लोकतंत्र की हत्या करना चाहती है। हमारे ऊपर भाजपा में शामिल होने का दबाव बनाया जा रहा है। सीहोर जिला पंचायत अध्यक्ष को लेकर भोपाल में जमकर बवाल हुआ। गुरुवार को सीहोर के जिला पंचायत सदस्यों को भोपाल की खजूरी पुलिस उठाकर थाने ले आई। जानकारी लगने पर बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता थाने पहुंच गए। कांग्रेसियों का आरोप है कि उनके ऊपर भाजपा में शामिल होने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

पूर्व विधायक बोले- चुनाव कराने के बजाए नॉमिनेशन करा दें

जिला पंचायत सदस्यों के साथ पूर्व विधायक रमेश सक्सेना को भी पुलिस ने थाने में बिठाए रखा। रमेश सक्सेना ने कहा कि चुनाव आयोग से बात करके सीधे नॉमिनेशन करा दें। ये लोकतंत्र की हत्या का काम बीजेपी कर रही है। आने वाले चुनाव में जनता इसका जवाब देगी।

रिसॉर्ट में रुके थे सदस्य

सीहोर जिला पंचायत का चुनाव जीते पांच सदस्य फंदा के पास नंदन रिसॉर्ट में रुके थे। जानकारी के मुताबिक सीहोर जिला पंचायत सदस्य विजेन्द्र उईके के रिश्तेदार ने अपहरण का मामला दर्ज कराया था। जानकारी मिलने के बाद खजूरी पुलिस नंदन रिसॉर्ट पहुंची। जिला पंचायत सदस्यों को उठाकर थाने ले आई। कांग्रेस नेता और जिला पंचायत सदस्य राजू राजपूत के साथ मौजूद विजेन्द्र धाकड़ ने कहा कि में पढ़ा-लिखा व्यक्ति जनता के वोटों से चुनकर आया हूं। में मर्जी से होटल में था। मेरी परिवार के लोगों से लगातार बात हो रही है। मेरे अपहरण की झूठी शिकायत की गई है।