भोपाल रेल मंडल के एडीआरएम गौरव सिंह पर रेप का केस दर्ज, नौकरी दिलाने में मदद के बहाने लूटी आबरू, पीड़िता ने किया खुदकुशी का प्रयास

पीड़िता के पति ने भी हरदा में पत्नी और एडीआरएम के खिलाफ दिया धोखाधड़ी का आवेदन, Victim's husband also filed fraud application against wife and ADRM in Harda

भोपाल रेल मंडल के एडीआरएम गौरव सिंह पर रेप का केस दर्ज, नौकरी दिलाने में मदद के बहाने लूटी आबरू, पीड़िता ने किया खुदकुशी का प्रयास

भोपाल। पश्चिम मध्य रेलवे जोन, भोपाल मंडल के एडीआरएम गौरव सिंह के खिलाफ एक महिला कर्मचारी ने रेप का मामला दर्ज कराया है। नर्मदापुरम महिला थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर शून्य पर केस प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है। एडीआरएम ने पिता की मौत के बाद रेलवे विभाग में अनुकंपा नियुक्ति दिलाने में मदद के बहाने एक साल तक उसके साथ बलात्कार किया। इसी बीच पीड़िता की एक व्यापारी से शादी हो गई। इसके बाद भी एडीआरएम उसके साथ लगातार शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव बना रहा था। तंग आकर पीड़िता ने उसके खिलाफ शिकायती आवेदन दिया था। पुलिस ने आवेदन जांच के बाद शुक्रवार को आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आगे की जांच के लिए केस डायरी भोपाल के गोविंदपुरा थाने को भेजी जाएगी। घटना स्थल होशंगाबाद रोड स्थित एडीआरएम का सरकारी बंगला है।

नर्मदापुरम महिला थाना प्रभारी सुरेखा निमोंदा ने बताया कि 26 वर्षीय विवाहिता हरदा की रहने वाली है। वह रेलवे में कर्मचारी है। उसकी फरवरी माह में ही शादी हुई है। पीड़िता ने एक शिकायती आवेदन दिया था। जिसमें उसने बताया कि भोपाल मंडल के एडीआरएम गौरव सिंह पर बलात्कार के आरोप लगाए हैं। 

अनुकंपा नियुक्ति दिलाने में की एडीआरएम ने मदद
महिला ने पुलिस को बताया कि उसके पिता रेलवे में कर्मचारी थे। जिनकी मई 2019 में मौत हो गई। पिता की मौत के बाद उसने विभागिय स्तर पर अनुकंपा नियुक्ति के लिए विभाग के आला अफसरों से संपर्क किया। इसी बीच उसकी पहचान एडीआरएम गौरव सिंह से हुई। गौरव सिंह ने उसे रेलवे में पिता के स्थान पर अनुकंपा नियुक्ति दिलाने में मदद का आश्वासन दिया। इसके बाद एडीआरएम ने विभाग में अपने रसूक का फायदा उठाते हुए महिला को अनुकंपा नियुक्ति दिला दी। 

नौकरी से निकालने का डर दिखाकर लूटी आबरू
रेलवे में नौकरी दिलाने में मदद के बाद एडीआरएम गौरव सिंह ने महिला को अच्छे से काम करने की हिदायत दी। एडीआरएम ने उससे कहा कि ऐसा नहीं किया तो मैं तुम्हे नौकरी से निकलवा दूंगा। डर के कारण पीड़िता ने उसके बात मनना शुरू कर दिया। महिला के डर का फायदा उठाकर आरोपी एडीआरएम ने भोपाल के नर्मदापुरम रोड (होशंगाबाद रोड) गोविंदपुरा स्थित रेलवे बिहार कॉलोनी स्थित अपने सरकारी बंगला नंबर आरबी-बी-1, 507 में ले जाकर महिला के साथ रेप किया। आरोपी ने पहली बार मार्च 2021 में पीड़िता को अपनी हवस का शिकार बनाया। आरोपी एडीआरएम गौरव सिंह ने 4 मई 2022 तक उसका शारीरिक शोषण करता रहा। 

आपत्तिजनक वीडियो और फोटो निकाले
पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपी एडीआरएम गौरव सिंह ने रेप के दौरान उसके आपत्तिजनक वीडियो बनाया और फोटो खींच लिए। आरोपी एडीआरएम वीडियो व फोटो सोशल मीडिया में वायरल करने की धमकी देकर भी उसके साथ मनमानी करता रहा। बदनामी के डर से वह चुप रही और किसी को कुछ नहीं कहा। पीड़िता को डर था कि वह एडीआरएम गौरव सिंह की बात नहीं मानती है तो वह उसे नौकरी से निकलवा सकता है।

महिला ने किया खुदकुशी का प्रयास
पुलिस के मुताबिक आरोपी एडीआरएम गौरव सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने वाली पीड़िता ने बदनामी के डर से अपने हाथ की नस काट कर आत्महत्या का प्रयास किया है। घटना के बाद घायल महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह काफी तनाव में है।

विवादों से पुराना नाता
बताया जा रहा है कि रेप के मामले में आरोपी एडीआरएम गौरव सिंह का विवादों से पुराना नाता रहा है। इससे पहले भी उन पर कई तरह के आरोप लग चुके हैं। जबलपुर हो गया भोपाल उन पर हमेशा से ही मनमानी और दुर्व्यवाहर करने के आरोपी लगते रहे हैं। सूत्रों की माने तो आरोपी गौरव सिंह पर सीनियर डीएसटी रहते हुए दो करोड़ के घोटाले के मामले में इनका नाम आ चुका है। 

एफआईआर दर्ज की है
नर्मदापुरम एसपी गुरुकरण सिंह ने बताया कि भोपाल रेल मंडल के एडीआरएम गौरव सिंह के खिलाफ एक महिला ने रेप की शिकायत की थी। इसके बाद महिला थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ शून्य पर केस दर्ज कर लिया है। चूंकि घटना स्थल भोपाल का है, इसलिए केस डायरी गोविंदपुरा थाने को भेजी जा रही है। आगे की जांच और कार्रवाई भोपाल पुलिस द्वारा की जाएगी। 

सख्त कार्रवाई होगी
भोपाल रेल मंडल के डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय ने बताया कि उन्हें मीडिया जरिए एडीआरएम गौरव सिंह के खिलाफ नर्मदापुरम में रेप का केस दर्ज होने के संबंध में जानकारी मिली है। लेकिन अभी तक पुलिस की ओर से उन्हें इस संबंध में कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है। इस मामले में आधिकारिक तौर पर जानकारी मिलने के बाद विभागिय स्तर पर एडीआरएम गौरव सिंह के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

एडीआरएम गौरव सिंह पर 40 लाख की धोखाधड़ी की शिकायत
भोपाल मंडल के एडीआरएम और रेप के आरोपी गौरव सिंह के खिलाफ 40 लाख रुपए की धोखाधड़ी की शिकायत की गई है। शिकायतकर्ता ने हरदा एसपी मनीष कुमार अग्रवाल को शिकायती आवेदन दिया है। हमेशा विवादों में रहने वाले एडीआरएम गौरव सिंह के खिलाफ रेप पीड़िता के पति ने शिकायत की है। उसने अपनी पत्नी और एडीआरएम गौरव सिंह के खिलाफ धोखा देकर शादी करने, 15 लाख रूपए हड़पने व सोने-चांदी के जेवरात चोरी करने के आरोप लगाए हैं। एसपी ने मामले की जांच महिला थाना प्रभारी को सौंपी है।