प्रसिद्ध कथक नृतक बिरजू महाराज का निधन, सांस्कृतिक और कला जगत में शोक की लहर

देश विदेश में प्रसिद्ध कथक नर्तक पंडित बिरजू (Pandit Birju Maharaj) महाराज का निधन हो गया है। राष्ट्रपति द्वारा पद्म विभूषण से सम्मानित 83 वर्ष के बिरजू महाराज (Birju Maharaj) ने रविवार और सोमवार की रात के बीच अपनी अंतिम सांस ली थी।

प्रसिद्ध कथक नृतक बिरजू महाराज का निधन, सांस्कृतिक और कला जगत में शोक की लहर
  • दुनियाभर में थे पंडित बिरजू महाराज के चाहने वाले
  • 1938 में हुआ था पंडित बिरजू महाराज का जन्म
  • पंडित बिरजू महाराज शास्त्रीय गायक भी थे
  • पद्म विभूषण से सम्मानित थे बिरजू महाराज 

देश विदेश में प्रसिद्ध कथक नर्तक पंडित बिरजू (Pandit Birju Maharaj) महाराज का निधन हो गया है। राष्ट्रपति द्वारा पद्म विभूषण से सम्मानित 83 वर्ष के बिरजू महाराज (Birju Maharaj) ने रविवार और सोमवार की रात के बीच अपनी अंतिम सांस ली थी। उनके निधन की जानकारी उनके पोते स्वरांश मिश्रा ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए दी है।

शोक में प्रशंसक

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ में पंडित बिरजू महाराज का निधन हुआ है। सांस्कृतिक और कला जगत में इस वक्त शोक की लहर है। आज हमने कला के क्षेत्र का एक अनोखा संस्थान खो दिया। इस दुखद समाचार से उनके प्रशंसक काफी दुखी हैं उन्होंने अपनी प्रतिभा से कई पीढ़ियों को प्रभावित किया है।"

पद्म विभूषण से हैं सम्मानित

आपको बता दें कि बिरजू महाराज ने देवदास, डेढ़ इश्किया, उमराव जान और बाजी राव मस्तानी जैसी बॉलीवुड की फिल्मों के लिए डांस कोरियोग्राफ किया था। इसके अलावा इन्होंने सत्यजीत रे की फिल्म 'शतरंज के खिलाड़ी' में म्यूजिक भी दिया था। उन्हें 1983 में भारत के राष्ट्रपति द्वारा पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।