व्हाट्सएप ग्रुप में रिटायर्ड डीजी ने मुस्लिमों पर की आपत्तिजनक पोस्ट, डीजीपी ने ग्रुप से बाहर कराया

व्हाट्सएप ग्रुप में रिटायर्ड डीजी ने मुस्लिमों पर की आपत्तिजनक पोस्ट, डीजीपी ने ग्रुप से बाहर कराया

भोपाल। मध्य प्रदेश के स्पेशल डीजी के पद से रिटायर हुए 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी ने मुस्लिम समुदाय पर बेहद आपत्तिजनक पोस्ट की है। उन्होंने पोस्ट मप्र आईपीएस एसोसिएशन के व्हाट्सएप ग्रुप "आईपीएस एमपी" में शेयर की है। इसके तुरंत बाद मप्र के डीजीपी ने इस पर आपत्ति लेते हुए उन्हें ग्रुप से पोस्ट हटाने के निर्देश दिए। लेकिन जब उन्होंने पोस्ट नहीं हटाई  तो डीजीपी ने ग्रुप से रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी को बाहर करवा दिया है। हालांकि रिटायर्ड स्पेशल डीजी अब भी अपनी बात पर कायम हैं और उनका कहना है कि उन्होंने कुछ गलत शेयर नहीं किया। 
दरअसल मप्र कैडर में आईपीएस रहे और स्पेशल डीजी के पद से रिटायर हुए 1984 बैच के अधिकारी मैथलीशरण गुप्त ने शुक्रवार सुबह मप्र आईपीएस एसोसिएशन के आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप "आईपीएस एमपी" पर एक पोस्ट शेयर की है। इसमें मुस्लिमों के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट शेयर की गई थी। इस पोस्ट में देश की बबार्दी का कारण मुस्लमों को बताया। साथ ही उनके देश में रहने का कारण अंग्रेजों को बताया था।  उक्त पोस्ट शेयर होते ही ग्रुप के शामिल आईपीएस अफसरों में हड़कंप मच गया। इसी बीच किसी अधिकारी ने डीजीपी विवेक जौहरी को इस पोस्ट के संबध्ां में जानकारी दी। व्हाट्सएप ग्रुप में इस पोस्ट के शेयर होने का पता चलते ही डीजीपी विवेक जौहरी ने गुप्त को पोस्ट हटाने के निर्देश दिए। लेकिन जब काफी देर तक रिटायर्ड डीजी ने पोस्ट नहीं हटी तो उन्हें ग्रुप से बाहर निकाल दिया गया। 
वही शेयर किया जो सच्चाई है
इस मामले में गुप्त का कहना है कि वे अपनी बात पर अब भी कायम हैं। उन्होंने कुछ भी गलत या आपत्तिजनक बात शेयर नहीं की है। उन्होंने वही शेयर किया है जो सच्चाई है। इसके साथ ही उन्होंने वीडियो भी शेयर किया है। ग्रुप से निकाले जाने पर गुप्त का कहना है कि उनके लिए यह सब बात मायने नहीं रखती है।
सोशल मीडिया पर सक्रिय रहते हैं गुप्त
एमएस गुप्त सोशल मीडिया पर लगातार सक्रिय रहते हैं। वे इसी तरह मप्र पुलिस में सुधार के लिए और क्राइम फ्री इंडिया के लिए भी लगातार कोई न कोई पोस्ट अपलोड कर अपने अनुभव साझा करते रहते हैं।