सीएम शिवराज बोले-सज्जनों के लिए फूल से ज्यादा कोमल दुष्टों के लिए वज्र से ज्यादा कठोर

सीएम ने जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर चित्रकूट में अपने इरादे किए जाहिर, CM expressed his intentions in Chitrakoot on zero tolerance policy

सीएम शिवराज बोले-सज्जनों के लिए फूल से ज्यादा कोमल दुष्टों के लिए वज्र से ज्यादा कठोर

सतना। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने चित्रकूट दौरे पर बेईमानों- बदमाशों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर अपने इरादे एक बार फिर साफ कर दिए। इस बार उन्होंने न केवल मंच से बात कही, बल्कि विजिटर बुक में अपना सख्त संदेश भी दर्ज किया। सीएम ने विजिटर बुक में लिखा-सज्जनों के लिए फूल से ज्यादा कोमल दुष्टों के लिए वज्र से ज्यादा कठोर। वे चित्रकूट गौरव दिवस और प्राकट्य पर्व के कार्यक्रमों में हिस्सा लेने पहुंचे थे। 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को रामनवमी पर चित्रकूट में गौरव दिवस और प्राकट्य पर्व के कार्यक्रमों में हिस्सा लिया और चित्रकूट समेत सतना जिले के कई क्षेत्रों को बड़ी सौगातें दीं। सीएम ने चित्रकूट क्षेत्र को जल संकट से मुक्ति दिलाने के लिए 243 करोड़ की लागत से पिंडरा में बांध बनवाने की घोषणा की। मंदाकिनी को सदानीरा बनाने और चित्रकूट को स्वच्छ सुंदर बनाने का संकल्प भी लिया। इस दौरान सिरसा वन में चित्रकूट के नए थाना भवन का लोकार्पण कर उन्होंने वहां रखी विजिटर्स बुक में अपना संदेश भी लिखा। सीएम शिवराज ने लिखा,सज्जनों के लिए फूल से कोमल ,'दुष्टों के लिए वज्र से ज्यादा कठोर'।

सीएम का सख्त संदेश
मुख्यमंत्री के इस संदेश ने न केवल उनके इरादे बताए हैं बल्कि पुलिस को भी अपना कार्य - व्यवहार इसी संदेश के अनुसार रखने की हिदायत दी है। इसे बेईमान और बदमाशों के खिलाफ उनकी जीरो टॉलरेंस पॉलिसी के ताजा आदेश के तौर पर भी देखा जा रहा है। उन्होंने विजिटर बुक के जरिए ये मैसेज देने के बाद मंच से भी अपने इरादे साफ किए। उन्होंने वर्तमान सतना कलेक्टर अनुराग वर्मा की तारीफ करते हुए कहा कि ये कलेक्टर अच्छा काम कर रहे हैं। पहले वाले कलेक्टर ने गड़बड़ी की थी। सरकारी जमीनें प्राइवेट कर दी थीं, हमने इनक्वायरी बैठा दी है, चार्ज शीट देंगे। बेईमानों को छोड़ेंगे नहीं।

चुनाव में होगा नुकसान
नगर निगम सतना के निवर्तमान पार्षदों का प्रतिनिधिमंडल भी नगर निगम के कामकाज की शिकायत लेकर चित्रकूट में सीएम से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने कामकाज पर असंतोष जताते हुए कहा कि इससे चुनाव में नुकसान होगा। उन्होंने सीएम से दखल की मांग की है। सीएम ने पार्षदों को भरोसा दिलाया है। इस प्रतिनिधिमंडल में भगवती पांडेय, प्रसेनजीत तोमर, नीरज शुक्ला, पुष्पराज कुशवाहा, शैलेन्द्र दाहिया, राधा श्रीवास्तव, शांति तिवारी, रेखा निधि गोपाल गुप्ता, रेणु सिंह और गंगा कुशवाहा शामिल रहे।