कोरोना महामारी के दौरान कम हुई कंडोम की बिक्री

अब कंपनी मेडिकल ग्लव्स बनाएगी

कोरोना महामारी के दौरान कम हुई कंडोम की बिक्री

पिछले दो साल से दुनिया में कोरोना वायरस ने आतंक मचा रखा है। इस महामारी ने लोगों को पूरी तरह से बदल दिया है। जहां अब कर्मचारी घर से आॅफिस का काम कर रहे हैं। वहीं स्कूल-कॉलेजों की पढ़ाई भी आॅनलाइन हो गई है। वहीं कोविड-19 के कारण लगे लॉकडाउन में पत्नी-पति के बीच संबंध मधुर हुए हैं। कई रिपोर्ट्स में उनके सेक्स लाइफ में सुधार होने की बात सामने आई है। हालांकि इसके बावजूद कंडोम इंडस्ट्री को काफी नुकसान हो रहा है। महामारी के समय कपल्स ने संबंध बनाए, लेकिन कंडोम  का इस्तेमाल नहीं किया। जिस कारण कंपनियों की सेल में भारी गिरावट हुई।

40 प्रतिशत तक कम हुई बिक्री
कोरोना महामारी के समय कंडोम का इस्तेमाल कम हुआ है। जिस कारण बीते दो वर्षों में दुनिया की सबसे बड़ी कंडोम निमार्ता कंपनी की ब्रिकी करीब 40 प्रतिशत कम हुई है। कंपनी के सीईओ ने कहा कि वायरस के कारण कंडोल की बिक्री काफी प्रभावित हो रही है। इसकी एक वजह लॉकडाउन है, क्योंकि तब सेक्सुअल वैलनेस सेंटर्स अधिकतर बंद रहे।

18 प्रतिशत तक शेयर में गिरावट
सीइओ  ने कहा कि अब कंपनी मेडिकल ग्लव्स बनाएगी। इस साल के मध्य में थाईलैंड में इसका प्रोडक्शन शुरू होगा। कोरोना वायरस महामारी के पहले कंपनी दुनिया में बिकने वाले हर पांच में से एक कंडोम बनाती थीं। 140 देशों में कंडोम बेचने वाली कंपनी के शेयर 18 प्रतिशत तक गिर गए है।