यूपी में जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज समेत छह स्थानों पर हुई हिंसा, पुलिस 136 को किया गिरफ्तार

मोटरसाइकिलों और गाड़ियों में आग लगा दी गई और एक पुलिस वाहन को आग लगाने का प्रयास, Motorcycles and vehicles were set on fire and an attempt was made to set a police vehicle on fire.

यूपी में जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज समेत छह स्थानों पर हुई हिंसा, पुलिस 136 को किया गिरफ्तार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज समेत छह स्थानों पर हिंसा भड़ गई। प्रयागराज में कुछ मोटरसाइकिलों और गाड़ियों में आग लगा दी गई और एक पुलिस वाहन को आग लगाने का प्रयास किया गया। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस और लाठियों का इस्तेमाल किया और बाद में शांति बहाल कर दी गई।।इस हिंसा में एक पुलिस जवान भी घायल हुआ है। यूपी पुलिस ने विरोध प्रदर्शन कर रहे 136 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। सबसे ज्यादा गिरफ्तारी 45 गिरफ्तारी सहारनपुर से हुई है, जबकि प्रयागराज से 37 गिरफ्तारियां हुई है। इसके अलावा अंबेडकरनगर से 23 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा, राज्य के छह जिलों से शुक्रवार रात नौ बजकर 45 मिनट तक प्रदर्शन कर रहे 136 बदमाशों को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि 45 प्रदर्शनकारियों को सहारनपुर से, 37 लोगों को प्रयागराज से, 23 लोगों को अंबेडकर नगर से, 20 को हाथरस से, सात को मुरादाबाद से और चार को फिरोजाबाद जिले से गिरफ्तार किया गया है।

हिंसा में शामिल कुछ लोगों को रोकने के लिए मामूली बल का इस्तेमाल किया गया। प्रयागराज में स्थिति अब शांतिपूर्ण है। मैं लोगों से हिंसा का सहारा लिए बिना विरोध के लोकतांत्रिक तरीकों का इस्तेमाल करने की अपील करना चाहता हूं।

प्रयागराज जोन के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) प्रेम प्रकाश ने कहा कि क्षेत्र में पथराव के दौरान रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) का एक कांस्टेबल घायल हो गया। अतिरिक्त पुलिस बल और आरएएफ की टीमों को मौके पर भेजा गया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे और उपद्रवियों को रोकने के लिए बल प्रयोग किया।

पुलिस कर्मियों द्वारा शांति की अपील को सुनने से इनकार करने पर पुलिस को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी। आगे की कार्रवाई के लिए सीसीटीवी फुटेज के जरिए प्रदर्शनकारियों की पहचान की जा रही है। बिजनौर में ऐहतियात के तौर पर एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

यूपी में हुई हिंसा को लेकर डीजीपी यूपी डीएस चौहान का बयान सामने आया है। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धर्म गुरुओं से बातचीत की गई थी। 3-4 जिÞलों में प्रदर्शन हुआ है, लेकिन पुलिस ने संयम और सख्ती के साथ स्थिति को संभाला है। डीजीपी चौहान ने कहा कि दंगाईयों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं इस पूरे मामले में आरएएफ का एक जवान घायल हो गया है।

दंगाइयों पर होगा सख्त एक्शन"
यूपी में जुमे की नमाज के बाद हुए प्रदर्शन और हिंसा पर राज्य के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने का बयान सामने आया है। केशव मौर्य ने कहा है कि अगर साजिश के तहत घटना की गई है तो साजिशकतार्ओं को बख्शा नहीं जाएगा। पूरे मामले की जांच करवाई जाएगी और जो माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे है, उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। यूपी पहले दंगा मुक्त प्रदेश था, आगे भी दंगा मुक्त प्रदेश ही रहेगा। पूरे प्रदेश में सतर्कता बरती जा रही है। यूपी को दंगा की आग में झुलसाने की कोशिश करने वालों पर सख्त एक्शन होगा।