12-14 साल के बच्चों को मार्च में लगाई जा सकती है वैक्सीन

भारत में कोविड वैक्सीनेशन प्रोग्राम फरवरी के अंत से 12-14 आयु वर्ग के लिए शुरू होने वाला है। यह जानकारी राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के कोविड -19 कार्य समूह के अध्यक्ष डॉ एन के अरोड़ा ने रविवार को दी है।

12-14 साल के बच्चों को मार्च में लगाई जा सकती है वैक्सीन
प्रतीकात्मक फोटो

भारत में कोविड वैक्सीनेशन प्रोग्राम फरवरी के अंत से 12-14 आयु वर्ग के लिए शुरू होने वाला है। यह जानकारी राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के कोविड -19 कार्य समूह के अध्यक्ष डॉ एन के अरोड़ा ने रविवार को दी है। देश में अब तक 15 -17 साल के तीन करोड़ से अधिक बच्चों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। अब तक लगभग 45 प्रतिशत बच्चों को वैक्सीन लग चुकी है। बड़ी बात यह है कि भारत को यह मुकाम हांसिल करने में मात्र 13 दिन का वक्त लगा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार डॉ अरोड़ा ने कहा कि, "हमारा लक्ष्य 15-17 आयु वर्ग के सभी 7.4 करोड़ किशोरों को जनवरी के अंत तक पहली खुराक के साथ कवर करना है जिससे हम फरवरी की शुरुआत से दूसरी डोज के साथ टीकाकरण शुरू कर सकें और फरवरी के अंत तक दूसरी खुराक समाप्त कर सकें। फरवरी के आखरी सप्ताह या मार्च की शुरुआत से 12 से 14 साल के बच्चों का टीकाकरण शुरू करना चाहते हैं।"  किशोरों का टीकाकरण महत्वपूर्ण है क्योंकि वे काफी गतिशील होते हैं। वे स्कूल, कॉलेज जाते हैं, आपस में मिलते हैं और संक्रमण फैलने का उच्च जोखिम होता है। खासकर कोरोना वायरस के ओमिक्रोन वैरिएंट जो काफी तेजी से फैलता है। इसलिए सरकार ने 18 साल से कम उम्र वालों को प्राथमिकता दी जा रही है।