भूटान में 166 बिल्डिंग्स-रोड बना रहा चीन

डोकलाम से महज 30 किमी दूर, जहां 2017 में विवाद हुआ था

भूटान में 166 बिल्डिंग्स-रोड बना रहा चीन

नई दिल्ली । चीन अब भूटान के रास्ते भारत को घेर रहा है। कुछ नई सैटेलाइट इमेजेस सामने आईं हैं। इन्हें देखने पर पता लगता है कि चीन डोकलाम एरिया से 30 किलोमीटर दूर भूटान में दो बड़े गांव बसा रहा है। ये इंटरकनेक्टेड होंगे। डोकलाम वही जगह है, जहां 2017 में भारत और चीन के सैनिकों के बीच विवाद हुआ था। चीन यहां रोड बनाने की कोशिश कर रहा था और भारत ने उसे रोक दिया था। चीन यहां 166 इमारतें और सड़कें बना रहा है। सैटेलाइट इमेजेस में उसका कंस्ट्रक्शन देखा जा सकता है।

 स्ट्रैटेजी में बदलाव
 डोकलाम विवाद के बाद चीन ने रणनीति में बदलाव किया है। वो उन जगहों से दूर कंस्ट्रक्शन कर रहा है, जहां भारत की मौजूदगी नहीं है। डोकलाम का पठार काफी बड़ा है। इसके जिस खास हिस्से को लेकर 2017 में भारत-चीन विवाद हुआ था, वहां से चीन की कंस्ट्रक्शन साइट 9 किलोमीटर दूर है और यह भूटान की जमीन है।  एक रिपोर्ट में बताया था कि चीनी सेना भूटान में एक गांव तैयार कर चुकी है।

सच्चे सबूत
 तस्वीरें बिल्कुल सच्चे सबूत देती हैं कि चीन अब भूटान के उस हिस्से में कंस्ट्रक्शन कर रहा है, जहां दोनों देशों के बीच विवाद है। यहां कई स्ट्रक्चर बन चुके हैं और कुछ अंडर कंस्ट्रक्शन हैं। यहां भारी मशीनें और अर्थ मूविंग इक्विपमेंट्स मौजूद हैं। कंस्ट्रक्शन साइट की तरफ जाने वाली सड़कें तैयार हो चुकी हैं। हालांकि, फिलहाल यह नहीं कहा जा सकता कि चीन इन जगहों का मिलिट्री यूज करना चाहता है या कुछ और। एक बात तय है कि भूटान जैसा छोटा और कमजोर देश चीन का विरोध नहीं कर पा रहा है। दोनों देशों के बीच 40 साल से सीमा विवाद पर बातचीत चल रही है। अब तक भूटान की तरफ से कभी यह नहीं कहा गया कि उसने चीन को अपनी एक इंच भी जमीन दी है या नहीं।

भूटान की फॉरेन पॉलिसी
ऐतिहासिक तौर पर भूटान हमेशा भारत के करीब रहा है, हालांकि उसकी फॉरेन पॉलिसी में भारत ने कभी दखलंदाजी नहीं की। भूटान बहुत अच्छी तरह से भारत की चीन को लेकर चिंताओं से वाकिफ है। चीन की साजिश को लेकर भारत के दिवंगत  जनरल बिपिन रावत ने चेतावनी भी दी थी। लद्दाख में भारत और चीन का विवाद करीब दो साल से जारी है।