मध्यप्रदेश में ऑफलाइन होंगी कॉलेजों की परीक्षाए: डॉ नरोत्तम मिश्रा

प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने दिए। उन्होंने कहा कि अधिकांश कॉलेज विद्यार्थियों को कोरोना टीका लग चुका है इसलिए कोरोना गाइड लाइन का पालन कराते हुए ऑफ लाइन परीक्षाए कराई जा सकती है। गृह मंत्री डॉ मिश्रा ने कहा कि हम मध्य प्रदेश में कॉलेज के छात्र छात्राओं के लिए ऑफलाइन एग्जाम कराने की दिशा में जा रहे हैं।

मध्यप्रदेश में ऑफलाइन होंगी कॉलेजों की परीक्षाए: डॉ नरोत्तम मिश्रा
file photo
  • संक्रमित होने पर पेपर देने का एक मौका और मिलेगा 
  • कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए कराई जाएंगी परीक्षा आयोजित
भोपाल। मध्य प्रदेश में कॉलेजों की परीक्षाएं ऑफ लाइन ही होगी। इस बात के संकेत आज प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने दिए। उन्होंने कहा कि अधिकांश कॉलेज विद्यार्थियों को कोरोना टीका लग चुका है इसलिए कोरोना गाइड लाइन का पालन कराते हुए ऑफ लाइन परीक्षाए कराई जा सकती है। गृह मंत्री डॉ मिश्रा ने कहा कि हम मध्य प्रदेश में कॉलेज के छात्र छात्राओं के लिए ऑफलाइन एग्जाम कराने की दिशा में जा रहे हैं। कॉलेज में पढ़ने वाले ज्यादातर छात्र छात्राओं को वैक्सिन लग चुकी है यदि एग्जाम के दौरान कोई छात्र संक्रमित होता है तो उसे अगले सेमेस्टर मे मौका दिया जाएगा। एग्जाम कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर कराए जाएंगे। गृह मंत्री ने कहा कि सरकार की तो आफ लाइन परीक्षा कराने की मंशा है। उसको लेकर तैयारी भी की जा रही है। जल्द  इस संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि हालात को देखते हुए अन्य विकल्प पर भी विचार हो सकता है।
बता दे कि कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती देख कॉलेज छात्र छात्राओं में यह संशय बना हुआ था कि यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों की परीक्षाएं ऑनलाइन होंगी या ऑफलाइन? आज इसको लेकर स्थिति साफ हो गई ।
दरअसल, यह मुद्दा पिछले कुछ समय से असमंजस की स्थिति पैदा कर रहा है। कई कॉलेजों में छात्र मांग कर रहे थे कि केस बढ़ रहे हैं तो सरकार को ऑनलाइन परीक्षाएं करानी चाहिए। इसके लिए कांग्रेस से जुड़े छात्र संगठन भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (NSUI) ने भी मोर्चा संभाल रखा है। कुछ शहरों में भाजपा से जुड़ी छात्र राजनीति इकाई एबीवीपी भी इसके लिए आवाज बुलंद कर रही हैं। गृह मंत्री के बयान से साफ है कि राज्य सरकार फिलहाल ऑनलाइन परीक्षाएं कराने के मूड में नहीं है। इस बार ऑफलाइन परीक्षाएं होना तय है। इस पर मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर बेंच में भी याचिका पर सुनवाई होनी है।