मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया संबल 2.0 पोर्टल का शुभारंभ, बोले गरीब भाई-बहन चिंता मत करना

सिंगल क्लिक के माध्यम से हितग्राहियों के खाते में ट्रांसफर की सहायता राशि, Transfer assistance amount to the beneficiary's account through single click

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया संबल 2.0 पोर्टल का शुभारंभ, बोले गरीब भाई-बहन चिंता मत करना

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को सिंगल क्लिक के माध्यम से संबल 2.0 पोर्टल का शुभारंभ किया। इस योजना के तहत प्रदेश के 25 हजार 982 श्रमिक परिवारों को 551.16 करोड़ की अनुग्रह सहायता व निर्माण श्रमिकों के 1036 परिवारों को 22.23 करोड़ की सहायता राशि वितरित की। उन्होंने कहा कि मेरे गरीब भाई-बहन चिंता मत करना। काटे गए नाम फिर से जोड़े जाएंगे। इस बार ई-कार्ड बनाकर देंगे। 

इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैंने बचपन में देखा था कि मजदूी करने वाली गरीब बहन जब अपने बेटा-बेटी को जन्म देती थी, तो उसे हफ्ते भर भी आराम करने का मौका नहीं मिलता था। अपने मासूम बेटा-बेटी को गोद में लेकर खेत पर मजदूरी करने जाया करती थीं। 

सरकारी दफ्तारों के चक्कर काटने की जरूरत नहीं
मुख्यमंत्री ने कहा कि संबज योजना में आवेदन देने के लिए आपको सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। एमपी ऑनलाइन, नागरिक सुविधा केंद्र, लोक सेवा केंद्रों में आवेदन कर सकते हैं। नवीन पंजीयन शुरू हो रहा है। काटे गए नाम फिर से जोड़े जाएंगे। इस बार हम ई-कार्ड बनाकर देंगे।

बच्चों की पढ़ाई नि:शुल्क होगी
सीएम ने कहा कि बेटा-बेटियों की पढ़ाई की चिंता करने की जरूरत नहीं है। बच्चों की पढ़ाई नि:शुक्ल होगी। अगर बेटा-बेटी पढ़ने में तेज हैं, मेधावी है अगर उनका एडमिशन, मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी, आईआईएम में होता हो तो उनकी फीस सरकार भरेगी।

इन सबको करेंगे योजना में शामिल
उन्होंने बताया कि संबज योजना हमने फिर से शुरू की है। चिंता मत करना। मेरे गरीब भाई-बहन, छोटे किसान भाई-बहन, मजदूरी करने वाले, पत्थर ढोने वाले, फुटपाथ पर सब्जी बेचने वाले, चाय दुकान चलाने वाले अब तो तेंदूपत्ता तोड़ने वोल गरीब भाई-बहन को भी इस योजना में शामिल करेंगे। बता दें कि संबल योजना से और अधिक हितग्राहियों को लाभान्वित करने योजना को नया स्वरूप देते हुए संबल 2.0 योजना शुरू की गई है। योजना में प्रदेश के 

प्रदेश के असंगठित क्षेत्र में कार्यरत श्रमिकों एवं उनके परिवार के लिए संबल योजना में सहायता राशि देने का प्रावधान है। अनुग्रह सहायता योजना में दुघर्टना मृत्यु होने पर 4 लाख रुपए एवं सामान्य मृत्यु होने पर 2 लाख रुपए की सहायता दी जाती है। इसी प्रकार स्थायी अपंगता पर 2 लाख रुपए एवं आंशिक स्थायी अपंगता पर एक लाख तथा अंतिम संस्कार सहायता के रूप में 5 हजार रुपए प्रदान किये जाते हैं। योजना में महिला श्रमिकों को प्रसूति सहायता के रूप में 16 हजार रुपए दिये जाते हैं, वही श्रमिकों के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा भी उपलब्ध करायी जा रही है।