मप्र में बढ़ रहे हार्ट अटैक के मामले, इंदौर में दूध बांट रहे और कटनी में पूजा कर रहे शख्स की मौत

मध्यप्रदेश में इन दिनों हार्ट अटैक से मौत के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अच्छे-खासे और चलते-फिरते इंसान को दिल का दौरा पड़ रहा है और अस्पताल पहुँचने से पहले ही उनकी मौत हो जा रही है। बीते दिनों जबलपुर में एक मेट्रो बस चालक को चलती बस में दिल का दौरा पड़ा और उसकी मौत हो गई, अब ऐसे ही दो हार्ट अटैक के मामले इंदौर और कटनी शहर में सामने आये हैं। सोमवार को इंदौर में दूध बांट रहे एक युवक की मौत हो गई। अचानक आ रहे हार्ट अटैक की खबरों से लोग दहशत में हैं। अन्य प्रदेशों में भी इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं। 

मप्र में बढ़ रहे हार्ट अटैक के मामले, इंदौर में दूध बांट रहे और कटनी में पूजा कर रहे शख्स की मौत

भोपाल। मध्यप्रदेश में इन दिनों हार्ट अटैक से मौत के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अच्छे-खासे और चलते-फिरते इंसान को दिल का दौरा पड़ रहा है और अस्पताल पहुँचने से पहले ही उनकी मौत हो जा रही है। बीते दिनों जबलपुर में एक मेट्रो बस चालक को चलती बस में दिल का दौरा पड़ा और उसकी मौत हो गई, अब ऐसे ही दो हार्ट अटैक के मामले इंदौर और कटनी शहर में सामने आये हैं। सोमवार को इंदौर में दूध बांट रहे एक युवक की मौत हो गई। अचानक आ रहे हार्ट अटैक की खबरों से लोग दहशत में हैं। अन्य प्रदेशों में भी इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं। 


इंदौर में दूध बांट रहे युवक की मौत
इंदौर में सोमवार सुबह एक युवक की दूध बांटते-बांटते मौत हो गई। द्वारकाधीश कालोनी में रहने वाले नीरज पुरोहित रोज की तरह सुबह दूध बांटने निकले थे। नीलकंठ कालोनी में वह पहुंचे और बंदी बांट रहे थे, तभी उनके सीने में तेज दर्द उठा। वह कुछ समझ नहीं पाए। कुछ देर बाद उनकी मौत हो गई। लोगों ने फोन कर परिजनों को इसकी सूचना दी। नीरज नीलकंठ कालोनी में सुबह पहुंचे थे। तभी उनको सीने में दर्द उठा और बाइक का बैलेंस भी बिगड़ गया। 

Read More:  जबलपुर में चलती मेट्रो बस में चालक को आया दिल का दौरा, ई-रिक्शा को रौंदा, तीन घायल


नीरज बाइक सहित सड़क पर गिर पड़े। लोगों को लगा कि सड़क हादसा हुआ। परिजन उन्हें अस्पताल ले गए। वहां डाक्टरों ने बताया कि उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई। नीरज की उम्र 40 साल थी। उनके दोस्तों ने बताया कि नीरज काफी फिट थे और कोई बीमारी भी नहीं था।


कटनी में साईंबाबा की पूजा करने पहुंचे शख्स को आया हार्ट अटैक
कटनी में हार्ट अटैक का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक शख्स को साईंबाबा की पूजा करने के दौरान हार्ट अटैक आया और मंदिर में ही उसकी मौत हो गई। मौत का लाइव वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। मृतक का नाम राकेश मेहानी था। 

Read More: अंबिकापुर के अस्पताल में 4 घंटे गुल रही बिजली, चार बच्चों की मौत से फूले अस्पताल प्रबंधन के हाथ-पैर  

 वायरल वीडियो में शख्स साईबाबा की पूजा करते नजर आ रहा है, इसी दौरान जब वह साईंबाबा के चरणों में सिर झुकाता है तो काफी देर तक झुका रह जाता है। जब युवक बहुत देर तक एक ही जगह से हिलता नहीं है तो कुछ लोग इसकी जानकारी मंदिर प्रबंधन को देते हैं, जिसके बाद पुजारी ने युवक के शरीर हिलाने की कोशिश की तो उसे मृत पाया, जिसके के बाद मंदिर में मौजूद अन्य लोगो के साथ राकेश को साई चरणों से उठाकर हॉस्पिटल रवाना किया गया, जहां उसे डॉक्टर ने भी मृत घोषित कर दिया। वहीं, घटना का पूरा वीडियो मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है जो अब सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है।

जबलपुर में मेट्रो बस चालक को वाहन चलाते वक्त पड़ा दिल का दौरा 
कुछ दिनों पहले जबलपुर में मेट्रो बस के चालक को वाहन चलाते वक्त दिल का दौरा पड़ने से मौत गई। बस ने एक ई-रिक्शा को भी रौंद दिया। बस दमोह नाका से बरेला मार्ग पर चलती थी। दमोह नाका के पास करीब 11 बजे बस के चालक को एकाएक दौरा आने से बस अनियंत्रित हो गई।

Read More: रीवा में कार को 200 मीटर घसीटता गया ट्रक, जिंदा जले कार में बैठे दो लोग 

इस दौरान बस ने कार को टक्कर मारी और कार के आगे बाइक पर सवार को टक्कर लगी और वह बुरी तरह से घायल हो गया। बस ने एक ई-रिक्शा को भी रौंद दिया। किसी तरह बस को रोका गया। इस दौरान दमोह नाका क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। बस की सवारी भी घबरा गई। लोगों ने देखा कि मेट्रो बस का चालक सीट में बेसुध पड़ा था। करीब जाकर लोगों ने देखा तो बस चालक 50 वर्षीय हरदेव पाल सिंह की सांसें थम चुकी थीं।


प्रदेश में पहले भी हो चुकी हैं ऐसी घटनाएं
इंदौर में पहले भी ऐसा ही मामला सामने आ चुका है। अगस्त में 43 वर्षीय एक युवक की क्रिकेट खेलते समय दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। वहीं अगस्त में ही इंडियन ऑयल के डिप्टी जीएम की जिम से लौटते वक्त दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी।

Read More: रतलाम के पास बस का इंतजार कर रहे लोगों को ट्रक ने रौंदा, 7 की मौत  

लगातार दिल का दौरा पड़ने से हो रही मौतों के मामले बढ़ने पर डॉ. अशोक सेठिया का कहना है कि कोरोनाकाल के बाद इस तरह के मामले ज्यादा सामने आ रहे है। 40 से 45 वर्ष की उम्र के लोगों को कठोर शारीरिक परिश्रम, ज्यादा कसरत से बचना चाहिए। कई बार इससे दिल पर दबाव बढ़ता है और दिल का दौरा पड़ने का जोखिम बढ़ जाता है।