सर्द हवाओं ने गिराया रात का पारा, मप्र में नौगांव सबसे ठंडा रहा

सर्द हवाओं ने लोगों को मजबूर कर दिया है। मप्र के कई जिलों में रात का पारा लगातार गिरने लगा है। वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू और उसके आसपास बना हुआ है। इस मौसम प्रणाली के असर से हवा का रुख बदलने के कारण दो दिन से न्यूनतम एवं अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी हो रही थी।

सर्द हवाओं ने गिराया रात का पारा, मप्र में नौगांव सबसे ठंडा रहा

भोपाल। सर्द हवाओं ने लोगों को मजबूर कर दिया है। मप्र के कई जिलों में रात का पारा लगातार गिरने लगा है। वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू और उसके आसपास बना हुआ है। इस मौसम प्रणाली के असर से हवा का रुख बदलने के कारण दो दिन से न्यूनतम एवं अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी हो रही थी।

सोमवार को पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से आगे बढ़ने की संभावना है। इसके बाद मंगलवार से मध्य प्रदेश में रात के तापमान में एक बार फिर गिरावट होने लगेगी। उधर, रविवार को मध्य प्रदेश में सबसे कम तापमान 7.4 डिग्री सेल्सियस नौगांव में दर्ज किया गया। ग्वालियर, चंबल संभाग के जिलों में सुबह कोहरा भी छाया रहा।

Read More: भारी बर्फबारी के चलते सर्दी का सितम शुरू, मध्यप्रदेश में बारिश के आसार

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज मुख्यत: शुष्क रहा। न्यूनतम तापमान में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। न्यूनतम तापमान रीवा एवं शहडोल संभाग के जिलों में सामान्य से अधिक तथा शेष संभाग के जिलों में सामान्य रहे।


अभी कड़ाके की सर्दी पड़ने के आसार कम 
मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के असर से हवा का रुख उत्तर-पूर्वी एवं दक्षिण-पूर्वी हो रहा है। इस वजह से दिन-रात के तापमान में बढ़ोतरी हो रही है। सोमवार को जम्मू पर बने पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से आगे बढ़ जाने के आसार हैं।

Read More: इंडोनेशिया का सबसे ऊंचा ज्वालामुखी माउंट फटा, राख के नीचे दब गए कई गांव

उसके बाद हवा का रुख उत्तरी होने लगेगा। जिसके चलते मंगलवार से न्यूनतम तापमान में एक बार फिर गिरावट शुरू होने की संभावना है। हालांकि सात दिसंबर को एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में पहुंचने के संकेत मिले हैं। इस वजह से मध्य प्रदेश में अभी कड़ाके की सर्दी पड़ने के आसार कम ही हैं।