ग्‍वालियर में पार्षद की पीट-पीटकर हत्या, परिजनों ने थाने के बाहर लगाया जाम

ग्वालियर। ग्वालियर के मुरार इलाके में एक पार्षद की डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी। पार्षद जन्मदिन पार्टी में शामिल होने पहुंचा था, जहां उसका दोस्तों से विवाद हो गया और उसके दोस्तों ने उसे पीट-पीटकर मार डाला। मृतक के परिजनों  ने पांच दोस्तों पर हत्या का आरोप लगाया है। इसमें से एक आरोपित को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, उस पर पूछताछ चल रही है। उधर, मृतक के परिजनों ने चक्काजाम कर दिया, परिजनों की मांग है कि आरोपितों के घर बुलडोजर चलाया जाए। 

ग्‍वालियर में पार्षद की पीट-पीटकर हत्या, परिजनों ने थाने के बाहर लगाया जाम

ग्वालियर। ग्वालियर के मुरार इलाके में एक पार्षद की डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी। पार्षद जन्मदिन पार्टी में शामिल होने पहुंचा था, जहां उसका दोस्तों से विवाद हो गया और उसके दोस्तों ने उसे पीट-पीटकर मार डाला। मृतक के परिजनों  ने पांच दोस्तों पर हत्या का आरोप लगाया है। इसमें से एक आरोपित को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, उस पर पूछताछ चल रही है। उधर, मृतक के परिजनों ने चक्काजाम कर दिया, परिजनों की मांग है कि आरोपितों के घर बुलडोजर चलाया जाए। 

शराब पीने के बाद हुआ विवाद 
मुरार थाना प्रभारी शैलेंद्र कुशवाहा ने बताया कि मुरार कैंटोनमेंट एरिया के वार्ड से पार्षद शैलेंद्र उर्फ शैलू कुशवाह जन्मदिन पार्टी में शामिल होने के लिए बीती रात गए थे। इस पार्टी में शामिल भूरा तोमर, धर्मेंद्र पाल, विक्की कौशल, विनीत राजावत सहित पांच लोगों के साथ शराब पी।

Read More: चीन में फिर फूटा 'कोरोना बम', एक दिन में मिले रेकॉर्ड 31 हजार से ज्यादा केस

इसके बाद आपस में विवाद हो गया तो पार्षद शैलेंद्र उर्फ शैलू को पीटना शुरू कर दिया। उस पर लाठी और डंडों से वार किया। उसे तब तक पीटते रहे, जब तक वह लहूलुहान होकर जमीन पर नहीं गिर पड़ा। इसी दौरान पार्षद शैलेंद्र कुशवाहा की मौत हो गई। उसे अस्पताल भी ले जाया गया, लेकिन यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।


 गुरुवार सुबह परिजनों ने मुरार इलाके में चक्का जाम कर दिया। स्वजनों का कहना है कि तत्काल आरोपितों को गिरफ्तार कर उनके मकान पर बुलडोजर चलाया जाए। पुलिस ने 5 आरोपितों में से विक्की कौशल को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ शुरू कर दी है।

Read More: महंगाई ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें, तीन दिन में 5 फीसदी तक बढ़े खाने-पीने के सामान के दाम 

दोस्त विक्की की बर्थडे पार्टी में गए थे …
पार्षद के दोस्त विक्की का बुधवार को जन्मदिन था। उसने देर रात बर्थडे पार्टी रखी थी। पार्षद की पत्नी राधा के मुताबिक, आरोपी पति को साथ लेकर चले गए, इसके ढाई घंटे बाद पति पर जानलेवा हमले की सूचना मिली। पति के साथ सुबह से ही आरोपी राजेश शर्मा साथ में था। पति की एक दिन पहले ही भूरा तोमर से लड़ाई हुई थी। तब भूरा को मैंने भी समझाया था। लेकिन, उसे समझ नहीं आया। यूं तो भूरा से करीब दो - तीन महीने पहले से लड़ाई चल रही थी। यह झगड़ा ढाबे पर खा-पीकर हंगामा करने के कारण हुआ था। दो दिन पहले ही भूरा ने दोबारा बातचीत शुरू की थी। पति ने भी अपनी तरफ से बातचीत शुरू की थी।

रात 11.30 बजे तक बात की... तब सबकुछ नॉर्मल था
राधा कुशवाह ने बताया कि बुधवार रात 11.30 बजे पति शैलू कुशवाह से बात हुई। तब तक सबकुछ सामान्य था। एनिवर्सिरी केक काटने के लिए बुलाने पर पति ने कहा था- थोड़ी देर में आ रहा हूं। पति अक्सर रात 12 बजे के बाद ही घर आते थे। 40 साल के शैलू उर्फ शैलेंद्र कुशवाह वार्ड नंबर 3 से पार्षद थे। बुधवार को ही उनकी मैरिज एनिवसिर्री थी। वे केक और मिठाई लेकर घर लौटे, फिर दोस्त का बथडे मनाने चले गए। वहां उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

Read More: Shukra Gochar 2022: शुक्र 5 दिसंबर को करेंगे गुरु की राशि में प्रवेश, इन राशियों पर होगी धन की वर्षा 

देर रात लाठी और सरियों से किया हमला
पुलिस को दिए शिकायती आवेदन में परिजन ने बताया कि रात 12.30 बजे हमें जानकारी मिली कि पार्षद को वंशीपुरा चौराहे पर राज उर्फ राजेश शर्मा, भूरा उर्फ सर्वेश तोमर, विक्की कौशल, विनीत राजावत और धीरज पाल लाठी और सरियों से मार रहे हैं। राधा ने बताया कि वह, सास लक्ष्मी कुशवाह, ससुर रामबाबू कुशवाह, चाचा नरेश कुशवाह और देवर रामू कुशवाह को लेकर वंशीपुरा चौराहा पहुंची। वहां पांचों हमलावर पति को पीट रहे थे। हम सभी को आता देखकर सभी भाग गए। पति शैलेंद्र कुशवाह को घायल हालत में लेकर जिला अस्पताल मुरार पहुंचे, जहां ड्यूटी डॉक्टर ने जांच कर जयारोग्य हॉस्पिटल रेफर कर दिया। यहां इलाज के दौरान रात ढाई बजे शैलू उर्फ शैलेंद्र कुशवाह की मौत हो गई।

परिजनों ने मुरार थाने के बाहर लगाया जाम

पार्षद की हत्या के बाद आक्रोशित परिजनों ने मुरार थाने के बाहर जाम लगा दिया। उनके साथ सैकड़ों स्थानीय लोग भी शामिल थे। सभी लोग आरोपितों को पकड़ने व उनके घरों पर बुलडोजर चलाने की मांग कर रहे थे।