Global Investors Summit 2023: इंदौर बना दुनियाभर की कंपनियों की पहली पसंद, सीएम ने उद्योगपतियों से की वन-टू-वन चर्चा

इंदौर में आयोजित दो दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में दुनिया भर की शीर्ष कंपनियों ने रुचि दिखाई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ 2 दिन तक चली वन टू वन चर्चा में अधिकतर उद्योगपतियों ने इंदौर के आसपास अपना काम शुरू करने में रुचि दिखाई है।

Global Investors Summit 2023: इंदौर बना दुनियाभर की कंपनियों की पहली पसंद, सीएम ने उद्योगपतियों से की वन-टू-वन चर्चा
  • मुख्यमंत्री शिवराज ने उद्योगपतियों से की वन-टू-वन चर्चा, आज समापन

इंदौर। इंदौर में आयोजित दो दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में दुनिया भर की शीर्ष कंपनियों ने रुचि दिखाई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ 2 दिन तक चली वन टू वन चर्चा में अधिकतर उद्योगपतियों ने इंदौर के आसपास अपना काम शुरू करने में रुचि दिखाई है। ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट का दूसरा और आखिरी दिन है। इसमें आयोजित आखिरी सत्र में तीन साल में भारत की इकोनॉमी को 5 ट्रिलियन में मप्र के योगदान विषय पर चर्चा की गई। सेशन में राज्य सरकार की ओर से बताया गया कि 2026-27 तक मप्र की इकोनॉमी 41 लाख करोड़ हो जाएगी।

Read More: MP Investors Summit 2023: आस्था से अध्यात्म तक मध्य प्रदेश अजब- गजब और सजग है : पीएम मोदी


 दो दिन चले निवेश सम्मेलन में एमपीआईडीसी ने सफलता पूर्वक 23 व्यापार संगठनों के साथ 36 एमओयू करार हस्ताक्षरित किए हैं। यह संगठन 215 से अधिक देशों में 15 निवेश और सहयोग के क्षेत्रों में कार्यरत हैं। इनमें दुनिया की शीर्ष कंपनियों के साथ औद्योगिक संगठन भी शामिल हैं।

मप्र सरकार में आर्थिक सलाहकार सचिन चतुर्वेदी ने बताया कि एमपी की इकोनॉमी ग्रोथ पिछले दस साल में 14.1 प्रतिशत सालाना रही है। एक्सपोर्ट्स 2021-2022 में 21 प्रतिशत रहा है। कृषि व टेक्नोलॉजी क्षेत्र में फोकस किया जा रहा है, बायो इकोनॉमी को आगे बढ़ाने की तरफ बढ़ रहे हैं। 15 निवेशकों ने इस ओर रुझान जताया है। माइनिंग इंस्टीट्यूट सिंगरौली में आने वाला है। फूड प्रोसेसिंग क्लस्टर, सेमी कंडक्टर, फॉर्मा सेक्टर क्षेत्र को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। यह प्रेजेंटेशन तैयार करने में देश के 24 एक्सपर्ट्स की मदद ली गई है।

Read More: स्वस्थ शरीर के लिए योग और व्यायाम जरूरी : मुख्यमंत्री चौहान 

औद्योगिक निवेश बढ़ाने के लिए नौ सत्रों में चर्चा की गई
ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट के अंतिम दिन गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उद्योगपतियों से वन-टू-वन चर्चा की। गुरुवार को ग्लोबल समिट में नौ सत्र थे। इस दौरान उन्होंने मध्य प्रदेश में उद्योगों की संभावनाओं और उनकी इच्छाओं को जाना।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश में 24 घंटे में उद्योगों के लिए जमीन आवंटित कर दी जाएगी। वह सप्ताह में एक दिन उद्योगपतियों से चर्चा करेंगे। प्रदेश में उद्योगों के लिए लैंड बैंक तैयार है। दिन भर में कई करारों पर हस्ताक्षर भी किए गए।
ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट के दूसरे दिन ब्रिलियंट कनवेंशन सेंटर में प्रदेश में औद्योगिक निवेश बढ़ाने के लिए नौ सत्रों में चर्चा की गई। इनमें मध्य प्रदेश की खूबियों की जानकारी दी गई। 

Read More: विज्ञापन मामले में AAP को झटका, 164 करोड़ रुपये जमा करने का नोटिस, नहीं भरे तो संपत्तियां होंगी कुर्क

 

देश की कई बड़ी कंपनियों के प्रतिनिधियों ने सीएम से मुलाकात की

मुख्यमंत्री से इंदौर में ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट के दूसरे दिन एशियन पेंट्स के ग्रुप हेड कॉर्पोरेट अफेयर्स अमित सिंह ने मुलाकात कर प्रदेश में निवेश संबंधी चर्चा की। इसके साथ ही EEPC समूह के चेयरमैन अरुण गरोड़िया ने मुलाकात की। सीएम से rackbank के सीईओ नरेंद्र सेन ने निवेश संबंधी चर्चा की।

Read More: पहाड़ों पर बर्फबारी से देश के कई हिस्सों में बर्फीली हवाओं और कोहरे ने बढ़ाई सिहरन 

सीएम से ओरिजिन ऑयल्स के निदेशक आनंद अय्यर ने भी मुलाकात कर निवेश के बारे में चर्चा की। नॉर्वे के एम्बेसेडर हेंस जैकब फाइडेलुड, ओसवाल ग्रुप के डायरेक्टर सौरभ गुप्ता, नेटलिंक स्ट्रैटेजिक सॉल्यूशन प्रालि के एमडी अनुराग श्रीवास्तव और उंडर जेसन डीस जी, टास्कअस की सपना भंबानी, किंग्सपान जिंदल ग्रुप के पवन जिंदल और असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट पवन नामदेव, MOIL लि. के एमडी अजितकुमार सक्सेना ने भी सीएम से मुलाकात कर प्रदेश में इनवेस्ट के संबंध में चर्चा की।