न्यायपालिका पर बनर्जी ने लगाए आरोप, तो गुस्साए धनखड़, कह दी यह बड़ी बात

राज्य में संवैधानिक संस्थानों पर हमले हो रहे हैं, न्यायपालिका पर हमला निंदनीय है।  उन्होंने कहा, एक आम सभा में उस न्यायाधीश पर निशाना साधना जिसने एसएससी घोटाला मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं, बेहद निंदनीय है। माननीय संसद सदस्य ने हद पार कर दी है।

न्यायपालिका पर बनर्जी ने लगाए आरोप, तो गुस्साए धनखड़, कह दी यह बड़ी बात

सिलीगुड़ी।  पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के भतीजे अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) द्वारा सीबीआई की आलोचना करने पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) ने उनको आड़े हाथों लिया है। धनखड़ ने कहा कि टीएमसी के सांसद ने न्यायपालिका (Judiciary)  की आलोचना करके हद पार कर दी है। राज्यपाल ने इसके साथ ही यह भी दावा किया कि राज्य में संवैधानिक अधिकारों पर हमले हो रहे हैं।  बता दें कि धनखड़ दार्जिलिंग यात्रा पर हैं और उन्होंने यह बात बागडोगरा हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद कही।

राज्यपाल ने कहा कि राज्य में संवैधानिक संस्थानों पर हमले हो रहे हैं, न्यायपालिका पर हमला निंदनीय है।  उन्होंने कहा, एक आम सभा में उस न्यायाधीश पर निशाना साधना जिसने एसएससी घोटाला मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं, बेहद निंदनीय है। माननीय संसद सदस्य ने हद पार कर दी है। साथ ही उन्होंने कहा कि बनर्जी की टिप्पणियों को गंभीरता से लिया है। उन्होंने मामले में राज्य के मुख्य सचिव से तत्काल उचित कार्रवाई करने को कहा।

यह बोले थे अभिषेक बनर्जी
बनर्जी ने कहा था,  मुझे यह कहते हुए शर्म महसूस हो रही है कि न्यायपालिका में एक या दो ऐसे लोग हैं जो प्रत्येक मामले में सीबीआई जांच का आदेश दे रहे हैं। यह न्यायपालिका का केवल एक प्रतिशत है....। उन्होंने कहा था, अगर आपको लगता है कि सच बोलने के लिए आप मेरे खिलाफ कार्रवाई करोगे तो मैं हजार बार सच बोलूंगा। इस घटनाक्रम ने तृणमूल कांग्रेस और राज्यपाल के बीच गतिरोध को और बढ़ा दिया है। जुलाई 2019 में धनखड़ के राज्यपाल बनने के बाद से उनकी राज्य सरकार के साथ गतिरोध की स्थिति बनी हुई है।

 गौरतलब है कि कलकत्ता हाईकोर्ट ने बीते एक साल में कई मामलों की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं, जिनमें चुनाव बाद हुई हिंसा और स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) द्वारा शिक्षकों की नियुक्ति किए जाने के मामले भी शामिल हैं।

धनखड़ पर TMC ने लगाया था यह आरोप
टीएमसी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने धनखड़ पर राज्यपाल पद की सीमाओं को पार करने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रतिनिध के रूप में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, अभिषेक बनर्जी अदालतों और न्याय प्रणाली में पूरा विश्वास और सम्मान रखते हैं। वहीं, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस द्वारा लोकतंत्र के सभी स्तंभों को अपमानित करने का प्रयास किया जा रहा है। लोकसभा सदस्य मजूमदार ने कहा, ‘‘बनर्जी न्यायपालिका के आदेशों पर कैसे सवाल खड़े कर सकते हैं?